स्व-सहायता समूह को आर्थिक रूप से सशक्त बनाया जाएगा- शिवराज

सागर,  (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के महिला स्व-सहायता समूहों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने यहाँ जिले के ग्राम बसा में शासन की कल्याणकारी योजनाओं के हितग्राहियों के साथ संवाद किया। उन्होंने कहा कि महिला स्व-सहायता समूह को आर्थिक रूप से सशक्त बनाया जाएगा। समूह की बहनें स्कूलों की यूनिफार्म तैयार करेंगी। उचित मूल्य की दुकान का संचालन और समर्थन मूल्य पर गेंहूँ, धान, चना आदि खरीदी का कार्य भी उन्हें दिया जाएगा। बच्चों के पोषण आहार का कार्य भी समूहों की महिलाओं को दिया गया है।

उन्होंने यहाँ आयोजित कार्यक्रम में महिला स्व-सहायता समूह को 21 लाख रुपये के चेक वितरित किए। उन्होंने ग्राम बसा में 63 करोड़ 98 लाख 81 हजार रुपए की लागत से केसली और देवरी विकासखंड के 87 गाँव में नलजल योजना का भूमिपूजन किया। उन्होंने देवरी और केसली के 386 गाँव में 416 करोड़ 16 लाख रूपये से अधिक की लागत से नल-जल योजना बनाने की घोषणा की। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना, लाड़ली लक्ष्मी योजना, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के हितग्राहियों को भी हितलाभ वितरित किए।

श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को आगे बढ़ाने के लिए कई कार्यकम चला रहे हैं। पीएम सम्मान निधि योजना में किसानों को प्रत्येक वर्ष 2-2 हजार रूपये की तीन किश्त और मुख्यमंत्री किसान-कल्याण योजना में 2-2 हजार रूपये की दो किश्त, इस प्रकार 10 हजार रूपये की राशि किसानों को दी जा रही हैं। प्रधानमंत्री आवास से कोई भी ग्रामीण वंचित नहीं रहेगा। प्रधानमंत्री ने देश में निःशुल्क कोरोना की वैक्सीन उपलब्ध करवाई है। लोग वैक्सीन लगवाने में लापरवाही नहीं बरतें और वैक्सीन की दोनों डोज लगवायें। वरिष्ठ नागरिक बूस्टर डोज भी जरूर लगवायें।

उन्होंने कहा कि जिन घरों में एक से अधिक परिवार रह रहें हैं और सदस्य बढ़ने से घर छोटा पड़ता है, ऐसे परिवारों के लिए भू-आवासीय अधिकार योजना लागू की गई है। ऐसे परिवारों को निःशुल्क आवासीय भू-खण्ड उपलब्ध कराये जाएंगे और प्रधानमंत्री आवास योजना में आवास निर्माण की राशि दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि बसा ग्राम के भ्रमण के दौरान लोगों ने तुलसीपार में जलाशय बनाये जाने की बात रखी है। इससे 500 हेक्टेयर में सिंचाई होगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इसके अलावा कोलखंड में सिंचाई हेतु छोटे-छोटे तालाब बनाये जाने का सर्वें भी करें। उन्होंने कहा कि ग्राम बसा में सामुदायिक भवन बनाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने केसली विकासखण्ड के सीमावर्ती जनजातीय बहुल ग्राम बसा में बृजेश मर्सकोले के घर दोपहर का भोजन किया। उनके साथ केंद्रीय खाद्य प्र-संस्करण उद्योग एवं जल शक्ति राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल, लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने भी भोजन किया। उन्होंने भोजन करने के बाद स्थानीय व्यंजनों के स्वाद और भोजन की सराहना की और मर्सकोले परिवार को मुख्यमंत्री आवास आने का निमंत्रण दिया।

नव भारत न्यूज

Next Post

मध्यप्रदेश में कोरोना के कारण 8 की मृत्यु, 11253 नए मामले

Mon Jan 24 , 2022
भोपाल, (वार्ता) मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के कारण मृत्यु के आकड़ों में भी बढ़त के बीच आज 08 लोगों की मृत्यु दर्ज की गयी और 11253 नए संक्रमित सामने आए। राज्य के स्वास्थ्य संचालनालय की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार 24 घंटों में 83 हजार से अधिक सैंपल की […]