कलेक्ट्रेट परिसर में घुसे शिवसैनिक,किया हंगामा

पुलिस बल के साथ किया धक्का,मुक्की

सिंगरौली :  क्षेत्रीय समस्याओं को लेकर शिवसैनिकों ने सरई क्षेत्र की समस्याओं को लेकर प्रतिबंधित क्षेत्र कलेक्टोरेट परिसर के अंदर घुस हंगामा करते हुए पुलिस कर्मियों के साथ धक्का-मुक्की शुरू कर दिया। यह घटना सोमवार की अपरान्ह करीब 3 बजे के बाद की है। मामला इतना गरमाया कि भारी संख्या में पुलिस बल बुलाना पड़ा।दरअसल कोविड-19 की तीसरी लहर के मद्देनजर उस पर नियंत्रण पाने के उद्देश्य से जिले में धारा 144 लागू है। साथ ही कोविड के बढ़ते प्रभाव को देख कलेक्टर ने धरना प्रदर्शन, जुलूश, रैली पर प्रतिबंध लगा दिया है। बावजूद इसके आज शिवसेना के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने सरई अंचल के कुछ गांवों की बिजली सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं को लेकर रैली निकालते हुए कलेक्टोरेट परिसर में घुस गये और जमकर नारेबाजी करने लगे।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कलेक्ट्रेट के जिस द्वार पर कलेक्टर का वाहन खड़ा था वहां जाकर घेर लिये और नारेबाजी करने लगे। इसी दौरान पुलिस कर्मी उन्हें यहां से हटने की हिदायत देने लगे। तभी शिव सैनिक पुलिस कर्मियों के साथ धक्का मुक्की करने लगे। मामला इतना गरमाया कि अपर कलेक्टर बाहर निकले और सख्त हिदायत देते हुए भारी भरकम पुलिस बुला लिया। मामला बिगड़ते देख शिव सैनिक धीरे-धीरे पीछे हटने लगे। हालांकि इस दौरान शिव सैनिकों ने पुलिस कर्मियों के साथ अभद्र गाली-गलौज भी किया है। जिसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल भी हो रहा है। अब सवाल उठ रहा है कि जब कोविड-19 के चलते धरना प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगा हुआ है और कलेक्टोरेट परिसर में रैली, ज्ञापन, जुलूश प्रतिबंधित है फिर शिव सैनिक इतनी हिमाकत करते हुए अंदर कैसे घुसे। इस बात को लेकर कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने काफी खफा हैं। उधर डीपी वर्मन ने शिव सैनिकों को कड़ी हिदायत दिया है।

नव भारत न्यूज

Next Post

झोपड़ी में आग लगने के कारण किसान दंपति जले, मौत

Tue Jan 11 , 2022
जबलपुर :  बरगी पुलिस ने बताया कि आज सुबह सूचना मिली की ग्राम चौरई में खेत में बनी झोपड़ी में आग लगने के कारण 60 वर्षीय सुमेर सिंह कुलस्ते एवं उनकी पत्नी 55 वर्षीय सिया बाई की आग से जलकर मौत हो गई है | दोनों के शव जली हुई […]