यानसन, ओलिवियर और रबादा ने भारत को 202 रन पर समेटा

जोहानसबर्ग, 03 जनवरी (वार्ता) तेज गेंदबाजों मार्को यानसन (31 रन पर चार विकेट), डुएन ओलिवियर (64 रन पर तीन विकेट) और कैगिसो रबादा (64 रन पर तीन विकेट) की घातक गेंदबाजी से दक्षिण अफ्रीका ने भारत को दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन सोमवार को चायकाल के बाद पहली पारी में 202 रन पर समेट दिया। भारत की तरफ से कप्तानी संभाल रहे लोकेश राहुल ने 50 और ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने 46 रन बनाये।
चोटिल विराट कोहली की जगह टीम की कप्तानी सभांल रहे लोकेश राहुल ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और जिम्मेदारी के साथ खेलते हुए लंच तक 74 गेंदों पर चार चौकों की मदद से नाबाद 17 रन बनाए, जबकि हनुमा विहारी 12 गेंदों पर चार रन पर खेल रहे थे। दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाजों की कसी हुई गेंदबाजी की बदौलत भारतीय टीम में दबाव में दिखी और परिणामस्वरूप शीर्ष के तीन बल्लेबाजों मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्या रहाणे के विकेट गंवा दिए।
राहुल और मयंक ने शुरुआत में अच्छे शॉट दिखाए। 14 ओवर में 36 रन पर भारत का एक भी विकेट नहीं गिरा, लेकिन युवा तेज गेंदबाज मार्काे यानसन ने 15वें ओवर की पहली गेंद पर ही मयंक को अपना शिकार बनाया और अहम साझेदारी को तोड़ दिया। इसके बाद ओलिवियर ने पुजारा और रहाणे को आउट करके भारत को लगातार दो झटके दिए। मयंक पांच चौकों की मदद से 37 गेंदों पर 26, पुजारा 33 गेंदों पर तीन और रहाणे बिना खाता खोले आउट हुए।
दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों ने भारतीय खिलाड़ियों को नियंत्रण में रखने के लिए पिच से मिल रही उछाल का इस्तेमाल किया। पिछले मैच के हीरो लुंगी एनगिदी ने उन्हें हनुमा विहारी को आउट करने का मौका भी बनाया, लेकिन नौ रन के स्कोर पर प्वाइंट के क्षेत्र में तेम्बा बावुमा से उनका कैच छूट गया। इसके बाद कैगिसो रबादा ने उछाल का फायदा उठाते हुए हनुमा विहारी को शिकार बनाया जो तीन चौकों की मदद से 53 गेंदों पर 20 रन बना कर आउट हुए। उन्होंने लंच के बाद अपने खाते में 11 रन और जोड़े।
इस बीच कप्तान लोकेश राहुल ने 128 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया, हालांकि अपने 13वें टेस्ट अर्धशतक के तुरंत बाद उन्होंने मार्को यानसन के तीखे बाउंसर पर अपना विकेट गंवा दिया। राहुल पुल शॉट खेलने के लिए गए, लेकिन गेंद फाइन लेग की ओर चली गई और रबादा ने आसान कैच पकड़ राहुल को चलता किया। भारत का 116 के स्कोर पर यह पांचवां विकेट था। कप्तान नौ चौकों की मदद से 133 गेंदों पर 50 रन बना कर आउट हुए।
इसके बाद क्रीज पर आए ऋषभ पंत और रविचंद्रन अश्विन ने पारी को संभाला और यह सुनिश्चित किया कि भारत चायकाल तक कोई और विकेट न खोएं। पंत चायकाल तक 13 और अश्विन 24 रन बनाकर नाबाद थे ।
चायकाल के बाद यानसन ने पंत को विकेटकीपर के हाथों कैच करा दिया। पंत ने 43 गेंदों में 17 रन बनाये। शार्दुल ठाकुर खाता खोले बिना ओलिवियर का शिकार बने। मोहम्मद शमी नौ रन बनाकर रबादा को वापस कैच दे बैठे। अश्विन को यांसन ने कीगन पीटरसन के हाथों कैच कराया। अश्विन ने 50 गेंदों पर 46 रन में छह चौके लगाए। जसप्रीत बुमराह ने 11 गेंदों पर दो चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 14 रन बनाकर भारत को 200 के पार पहुंचाया। रबादा ने मोहम्मद सिराज को विकेटकीपर के हाथों कैच कराकर भारत को 63.1 ओवर में 202 रनों पर रोक दिया।

नव भारत न्यूज

Next Post

‘टेनी’ के बेटे आशीष के खिलाफ एसआईटी ने अदालत में दायर किया आरोप पत्र

Mon Jan 3 , 2022
लखीमपुर खीरी, 03 जनवरी (वार्ता) उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में आंदोलतरत किसानों को कथित तौर पर कार से कुचलने के मामले में आरोपी आशीष मिश्रा उर्फ ‘मोनू’ और 13 अन्य के खिलाफ उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने सोमवार को स्थानीय अदालत में आरोप […]