विधानसभा चुनावों से पहले चुनावी-बांड की बिक्री पहली जनवरी से

नयी दिल्ली,30 दिसंबर (वार्ता) भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) राजनीतिक चंदे के लिए शुरू किए गए चुनावी बांड की बिक्री नए वर्ष की पहली तारीख से शुरू करने जा रहा है।
एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार एसबीआई इसके लिए अधिकृत अपनी 29 अधिकृत शाखाओं के जरिए 01-10 जनवरी 2022 तक ये बांड बेचेगा। यह इन बांडों की बिक्री का 19वां चक्र होगा।
गौरतलब है कि चुनावी बांड योजना 2019 के तहत ये बांड इसके लिए अधिकृत बैंक द्वारा जारी किए जाते हैं। सरकार ने इसके लिए स्टेट बैंक को अधिकृत कर रखा है।
चुनावी बांड भारत का कोई नागरिक या भारत में गठित या स्थापित कोई कार्पोरेट संगठन ही अकेले या संयुक्त रूप से खरीद सकता है। इन्हें निर्गम के 15 दिन के अंदर भुनाना पड़ता है। मियाद बीतने पर पार्टी को इसका कोई पैसा नहीं मिलता है।
ये बांड पंजीकृत दलों को चंदे के रूप में दिए जाते हैं और वे इन्हें बैंक के खाते के जरिए अधिकृत बैंक में भुनाते हैं। आम चुनाव या विधान सभा चुनाव में मतदान में कम से कम एक प्रतिशत मत हासिल करने वाले दलों को ही चुनावी बांड से चंदा प्राप्त करने का अधिकार है।
गौरतलब है कि नए वर्ष के शुरू में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, त्रिपुरा और पंजाब में विधान सभा चुनाव होने जा रहे हैं। इनमें भाजपा, समा, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, तृणमूल और अकाली दल जैसी प्रमुख पार्टियां गाजे-बाजे के साथ चुनाव अभियान में लग गयी हैं।
गौरतलब है कि राजनीतिक दलों को नियमानुसार दो हजार रुपये से अधिक नगद चंदा नहीं दिया जा सकता। चुनावी बाँड खरीदने वाले की जानकारी गुप्त रखी जाती है।

नव भारत न्यूज

Next Post

केन्द्र ने छह राज्यों के लिए मंजूर की 3 हजार करोड़ की अतिरिक्त केन्द्रीय सहायता

Thu Dec 30 , 2021
नयी दिल्ली 30 दिसम्बर (वार्ता) केन्द्र सरकार ने छह राज्यों गुजरात, पश्चिम बंगाल, असम, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और उत्तराखंड के लिए तीन हजार 63 करोड़ रूपये की अतिरिक्त केन्द्रीय सहायता राशि मंजूर की है। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में गुरूवार को हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में […]