निगम-मंडलों में हुई नियुक्तियों पर नरेन्द्र सिंह ने कहा कि काम करने वालों को पद मिला है

ग्वालियर:  केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने हाल ही में निगम-मंडलों में हुई नियुक्तियों पर कहा है कि काम करने वालों को पद मिला है। जब उनसे पूछा गया कि भाजपा के मूल कार्यकर्ता की अनदेखी का आरोप कांग्रेस लगा रही है तो केन्द्रीय मंत्री तोमर ने कहा कि जो अध्यक्ष और उपाध्यक्ष बने हैं वह सभी भाजपा के ही कार्यकर्ता हैं। इसलिए कांग्रेस का कुछ नहीं है उसे सिर्फ आरोप लगाना ही आता है।

केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह शनिवार को ग्वालियर पहुंचे हैं। एक दिन पहले ही प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह ने निगम और मंडलों में राजनैतिक नियुक्तियां की है। ग्वालियर-चंबल अंचल में 7 को निगम व मंडल में अध्यक्ष बनाया गया है। इनमें से 5 केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक हैं और दो शिवराज सिंह। नरेन्द्र सिंह के एक भी समर्थक को जगह नहीं मिली है। कांग्रेस ने भी मूल भाजपाइयों की अनदेखी की तंज कसा। जब केन्द्रीय कृषि मंत्री तोमर से यह सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि जो बने है वह भी भाजपा के कार्यकर्ता हैं।

किसानों की आत्महत्या को लेकर महाराष्ट्र सरकार के केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराए जाने के सवाल पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने करार जवाब दिया। उनका कहना है कि मृत्यु किसी की भी हो दुखद है, लेकिन मृत्यु पर राजनीति किसी को नहीं करना चाहिए। यह गलत बात है। कृषि राज्यों का विषय है और राज्यों को इस मामले में चिंता करनी चाहिए, बजाए किसी पर दोषारोपण करने उनके विकास की सोचना चाहिए। राज्य सरकारों की ये पहली जिम्मेबारी है।

तोमर ने किसानों के लिए किए गए कार्यो को भी गिनाया। उन्होंने बताया कि विगत वर्षों में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि के अंतर्गत साढ़े 11 करोड़ किसानों को 1 लाख 60 हज़ार करोड़ से अधिक पैसा उनके खाते में जमा कराया है। फसल बीमा जैसी योजनाओं के माध्यम से 1 लाख करोड़ से अधिक का मुआवजा जिन किसानों का नुकसान हुआ उनको प्रदान किया गया है। लगातार कृषि सुधार और कृषक की आमदनी दोगुनी हो इस दृष्टि से केंद्र सरकार, राज्य के साथ मिलकर काम कर रही है। आपके माध्यम से राज्य सरकारों को अनुरोध करना चाहता हूं कि उनको अपनी स्कीम की समीक्षा करनी चाहिए। कोई भी किसान आत्महत्या की ओर न बढ़े यह जिम्मेदारी लेना चाहिए।

मुरार में बेरोजगार युवाओं ने काफिला रोकने की कोशिश की मुरार कन्या विद्यालय में कार्यक्रम मंे जब केन्द्रीय कृषि मंत्री जा रहे थे तो रास्ते में सेना भर्ती काफी समय से न होने से नाराज युवकों ने केन्द्रीय मंत्री तोमर के काफिले को घेरकर प्रदर्शन करने का प्रयास किया, लेकिन वह सफल नहीं हो सके। उनको पुलिस ने केन्द्रीय मंत्री के काफिले से दूर ही रोक लिया। इसके बाद बेरोजगार युवकों ने सेना भर्ती कार्यालय पर प्रदर्शन किया है।

नव भारत न्यूज

Next Post

तीसरी लहर से बचने मुरैना जिले में फिर शुरू हुआ रोको-टोको अभियान

Sun Dec 26 , 2021
अधिकारियों ने लोगों को रोक-रोक कर मास्क पहनाये मुरैना:  कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिये जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों, कर्मचारियों ने अलग-अलग स्थानों पर रोको-टोको अभियान की शुरूआत की।रोको-टोको अभियान के तहत अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अनुविभाग शिवलाल शाक्य, सीएसपी अतुल सिंह, संयुक्त संचालक जनसम्पर्क […]