बालाघाट को मिली नई पहचान : रेलवे स्टेशन पर गूंजने लगा, बाघों की नगरी में आपका स्वागत है

बालाघाट: विभिन्न किस्मों क़े चावल क़े लिये विख्यात बालाघाट को नई पहचान मिल गई है,अब जिले क़े रेलवे स्टेशन में यात्रियों को यह सुनाई पड़ने लगा है कि बाघों क़े शहर में आपका स्वागत है.बालाघाट को यह सफलता लम्बे सँघर्ष क़े बाद मिल पाई है। आपको बता दे की बालाघाट से ब्रॉड गेज का कार्य पूर्ण होते ही दक्षिण से उत्तर को जोडऩे वाली अनेक सुपर फास्ट, एक्सप्रेस,मालवाहक रेल गाडिय़ों का आवागमन तेज हो रहा है. बालाघाट में सघन जंगल और वन्य प्राणियो कि बहुतायत है,कान्हा से लगे होने क़े कारण पर्यटकों का आवागमन बड़ी संख्या में होता है.

स्थानीय पर्यटन को बढ़ावा देने क़े उद्देश्य से वन्यजीव प्रेमी अभय कोचर द्वारा रेलवे सलाहकार समिति के सदस्य रमेश रंगलानी को यह सुझाया गया था कि बालाघाट स्टेशन में यह उद्घोषणा हो कि टाईगर सिटी में आपका स्वागत है, कान्हा राष्ट्रीय उद्यान जाने के लिए यहाँ उतरिए। जिसे समिति के सदस्य रमेश रंगलानी ने गंभीरता के साथ नागपुर क्षेत्र के डीआरएम तजिंदर सिंह उप्पल के समक्ष यह बात रखी, जिस पर डीआरएम द्वारा त्वरित स्वीकृति प्रदान की गई। बैठक में समिति सदस्य अरुण राहंगडाले व मोनील जैन भी शामिल रहें।10 अगस्त को निर्णय लेकर इस पर अमल शुरू कर दिया गया। प्रयास हैं कि देश भर में एक दिशा से दूसरे दिशा की ओर जाने वाले यात्रियों का बाघों की नगरी से जुडाव हो सके और वे पर्यटक़ के रूप में बालाघाट में प्रवेश करें, ताक़ि जिले क़े विकास को पंख लग सकें।

प्रतिवर्ष बाघों की बढ़ रही संख्या
जिले में कारीडोर और कान्हा नेशनल पार्क सहित लगभग 70-80 के लगभग बाघों की संख्या पहुंच गयी है और वर्तमान में भी गणना प्रांरभ है जिससे और एक नया आँकड़ा भी आयेगा। कारीडोर में लगभग 30 बाघों की संख्या की
जानकारी मिल रही है और कान्हा नेशनल पार्क में लगभग 40 के आस-पास संख्या होने की जानकारी मिल रहीं है।

इनका कहना है
गत वर्षो से वनमंडलाधिकारी को पत्र के माध्यम से टाईगर सिटी का दर्जा दिलाने के लिए प्रयासरत थे जिन्होंने वर्ष 2021 की गणना के पश्चात कुछ किये जाने की बात भी की थी, उसके पश्चात जब उत्तर से दक्षिण रेल्वे लाईन को जोड़ा गया तो बालाघाट रेलवे स्टेशन में एलॉउन्स मेंट के लिए रेलवे बोर्ड को अवगत कराया जो सफल रहा और जिले को एक नई पहचान मिल गयी है, जो बहुत ही खुशी की बात है।

अभय कोचर, वन्यजीव प्रेमी

स्टेशन पऱ एनांउसमेंट किये जाने सम्बन्धी स्वीकृति पत्र 10 अगस्त को प्राप्त हो गया है जो हमारे द्वारा अब अपलोड कर एलॉउन्स भी किया जा रहा है।
एच.एल. कुशवाह, रेल्वे स्टेशन मास्टर, बालाघाट

नव भारत न्यूज

Next Post

सदन में चर्चा से भाग रही शिवराज सरकार, पिछड़ा वर्ग के 27 प्रतिशत आरक्षण पर उदासीनता की चोट

Sat Aug 14 , 2021
कांग्रेस नेताओं ने पत्रकार वार्ता में सरकार को घेरा ग्वालियर:  ग्वालियर में कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने एक संयुक्त पत्रकार वार्ता लेकर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस के पूर्व मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत एवं अन्य कांग्रेस नेताओं ने कहा कि शिवराज सरकार ने […]