अमर शहीद बिस्मिल के 94वें बलिदान दिवस पर निकाली मशाल पद यात्रा, गार्ड ऑफ ऑनर से किया सम्मान

मुरैना: डाइट परिसर में शहीद बिस्मिल मंदिर पर हुए आयोजन में कलेक्टर बी कार्तिकेयन, एसपी ललित शाक्यवार सहित अधिकारियों, गणमान्य व्यक्तियों ने अमर क्रांतिकारी पंडित रामप्रसाद बिस्मिल को श्रद्धांजलि दी.स्वतंत्रता संग्राम के योद्धा शहीद बिस्मिल के 94वें बलिदान दिवस पर मुरैना से अम्बाह के बरबाई तक बिस्मिल अमर रहे के नारों से गूंज उठा। शहीद बिस्मिल मंदिर में कलेक्टर कार्तिकेयन ने पंचामृत से अभिषेक किया। पूजा अर्चना की और ध्वजारोहण कर शहीद बिस्मिल को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार, एडीएम नरोत्तम भार्गव मौजूद थे। कलेक्टर ने कहा कि हमे अपने स्वतंत्रता संग्राम के नायकों का हमेशा सम्मान करना चाहिए। स्वतंत्रता की लड़ाई में बिस्मिल का योगदान अविस्मरणीय है। यह हमारे चम्बल क्षेत्र के लिए गौरव की बात है कि यहां के वीर सपूत ने अंग्रेजी हुकूमत की नींव हिला दी थी।

कलेक्टर कार्तिकेयन ने कहा कि देश के लिए बलिदान देने वाले राष्ट्र नायको के सम्मान में इस तरह के आयोजन की स्वस्थ परम्परा बनी रहे इसके लिए प्रशासन द्वारा सहयोग किया जाता रहेगा। उन्होंने शहीद बिस्मिल जनकल्याण संस्था की टीम के कार्य की सराहना की। इसके बाद मशाल पदयात्रा को 21 तोपों की सलामी देने के बाद बिस्मिल के पैतृक गांव बरबाई के लिये रवाना किया। मशाल पदयात्रा शहीद स्मारक, नई हाउसिंग बोर्ड स्थित बिस्मिल चौराहा होते हुए बिस्मिल संग्रहालय पहुँची। यहां अमर शहीद बिस्मिल को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद 200 से अधिक लोगो का जत्था शहीद बिस्मिल संस्था के नरेश सिंह सिकरवार के नेतृत्व में रामप्रसाद बिस्मिल के पैतृक गांव बरबाई रवाना हुआ। इस दौरान भारत माता की जय और बिस्मिल अमर रहे के नारे लगाए गए। अपर कलेक्टर नरोत्तम भार्गव ने कहा कि उनकी गौरवगाथा से प्रेरणा लेने की बात कही। इससे पूर्व स्वागत भाषण व कार्यक्रम की रुपरेखा अमर शहीद बिस्मिल संस्था के नरेश सिंह सिकरवार ने प्रस्तुत की।मुरैना/ डाइट परिसर में शहीद बिस्मिल मंदिर पर हुए आयोजन में कलेक्टर बी कार्तिकेयन, एसपी ललित शाक्यवार सहित अधिकारियों, गणमान्य व्यक्तियों ने अमर क्रांतिकारी पंडित रामप्रसाद बिस्मिल को श्रद्धांजलि दी.

स्वतंत्रता संग्राम के योद्धा शहीद बिस्मिल के 94वें बलिदान दिवस पर मुरैना से अम्बाह के बरबाई तक बिस्मिल अमर रहे के नारों से गूंज उठा। शहीद बिस्मिल मंदिर में कलेक्टर कार्तिकेयन ने पंचामृत से अभिषेक किया। पूजा अर्चना की और ध्वजारोहण कर शहीद बिस्मिल को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार, एडीएम नरोत्तम भार्गव मौजूद थे। कलेक्टर ने कहा कि हमे अपने स्वतंत्रता संग्राम के नायकों का हमेशा सम्मान करना चाहिए। स्वतंत्रता की लड़ाई में बिस्मिल का योगदान अविस्मरणीय है। यह हमारे चम्बल क्षेत्र के लिए गौरव की बात है कि यहां के वीर सपूत ने अंग्रेजी हुकूमत की नींव हिला दी थी।

कलेक्टर कार्तिकेयन ने कहा कि देश के लिए बलिदान देने वाले राष्ट्र नायको के सम्मान में इस तरह के आयोजन की स्वस्थ परम्परा बनी रहे इसके लिए प्रशासन द्वारा सहयोग किया जाता रहेगा। उन्होंने शहीद बिस्मिल जनकल्याण संस्था की टीम के कार्य की सराहना की। इसके बाद मशाल पदयात्रा को 21 तोपों की सलामी देने के बाद बिस्मिल के पैतृक गांव बरबाई के लिये रवाना किया। मशाल पदयात्रा शहीद स्मारक, नई हाउसिंग बोर्ड स्थित बिस्मिल चौराहा होते हुए बिस्मिल संग्रहालय पहुँची। यहां अमर शहीद बिस्मिल को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद 200 से अधिक लोगो का जत्था शहीद बिस्मिल संस्था के नरेश सिंह सिकरवार के नेतृत्व में रामप्रसाद बिस्मिल के पैतृक गांव बरबाई रवाना हुआ। इस दौरान भारत माता की जय और बिस्मिल अमर रहे के नारे लगाए गए। अपर कलेक्टर नरोत्तम भार्गव ने कहा कि उनकी गौरवगाथा से प्रेरणा लेने की बात कही। इससे पूर्व स्वागत भाषण व कार्यक्रम की रुपरेखा अमर शहीद बिस्मिल संस्था के नरेश सिंह सिकरवार ने प्रस्तुत की।
स्वतंत्रता सेनानी, समाजसेवियों को किया सम्मानित
कार्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों व समाजसेवियों को कलेक्टर कार्तिकेयन ने शॉल श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया। आभार प्रदर्शन पुरात्तव अशोक शर्मा ने किया। इस अवसर पर वरिष्ठ समाज सेवी डॉ. योगेशपाल गुप्ता, डाइट प्राचार्य सुदेश सक्सेना, राघवेंद्र तोमर, गजेंद्र राठौर, रामबल सिकरवार, हरीश तिवारी, सब रजिस्ट्रार बलराम सिंह भदौरिया, मंडी सचिव दोनेरिया, उप संचालक ऐके सक्सेना, बीआरसी शिवराज शर्मा, विमलेश यादव,रामावतार सिकरवार, डॉ हरेंद्र तोमर, प्रमिला तोमर, समाजसेवी हेमा अग्रवाल, ममता तोमर, सतंजय मिश्रा, महेंद्र सिकरवार,रामावतार सिंह चम्बल, जंडेल सिंह सिकरवार सरसेनी, जगदीश शर्मा, एचएम मेडम टोपो, नारायणलाल, रामबरन शर्मा, मुकेश प्रजापति सहित 2 सैकड़ा से अधिक छात्र व गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

कार्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों व समाजसेवियों को कलेक्टर कार्तिकेयन ने शॉल श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया। आभार प्रदर्शन पुरात्तव अशोक शर्मा ने किया। इस अवसर पर वरिष्ठ समाज सेवी डॉ. योगेशपाल गुप्ता, डाइट प्राचार्य सुदेश सक्सेना, राघवेंद्र तोमर, गजेंद्र राठौर, रामबल सिकरवार, हरीश तिवारी, सब रजिस्ट्रार बलराम सिंह भदौरिया, मंडी सचिव दोनेरिया, उप संचालक ऐके सक्सेना, बीआरसी शिवराज शर्मा, विमलेश यादव,रामावतार सिकरवार, डॉ हरेंद्र तोमर, प्रमिला तोमर, समाजसेवी हेमा अग्रवाल, ममता तोमर, सतंजय मिश्रा, महेंद्र सिकरवार,रामावतार सिंह चम्बल, जंडेल सिंह सिकरवार सरसेनी, जगदीश शर्मा, एचएम मेडम टोपो, नारायणलाल, रामबरन शर्मा, मुकेश प्रजापति सहित 2 सैकड़ा से अधिक छात्र व गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

नव भारत न्यूज

Next Post

हादसे में 15 घायल : लोडिंग वाहन से सत्संग में जा रहीं थीं महिलाएं, डंपर ने टक्कर मारी

Mon Dec 20 , 2021
शिवपुरी:  कोलारस थाना क्षेत्र के उकावल मोड़ पर एक डंपर चालक ने लोडिंग वाहन को पीछे से टक्कर मार दी। हादसे में लाेडिंग में सवार 15 महिलाएं घायल हो गईं, 4 की हालत गंभीर है। घायल महिलाओं को इलाज के लिए कोलारस स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। वहीं गंभीर रूप से […]

You May Like