सुप्रसिद्ध गीतकार पण्डित दामोदर शर्मा नहीं रहे

ग्वालियर :  सुप्रसिद्ध गीतकार पंडित दामोदर शर्मा आज रात्रि अपनी अनंत यात्रा पर प्रस्थान कर गए। गीत काव्य के प्रणेता एवं परंपरागत गीत शैली के अद्भुत गीतकार दामोदर शर्मा एक अप्रतिम गीतकार थे। 60 के दशक में मध्यप्रदेश शासन साहित्य परिषद ने उन्हें अपने प्रतिष्ठित गीत पुरस्कार “ठाकुर पुरस्कार” से सम्मानित किया था। 70 के दशक में उनका एक अनूठा गीत संग्रह ‘मन बंधा नहीं’ शीर्षक से सुधि श्रोताओं के बीच आया।

उन्होंने लगभग 50 से अधिक वर्ष तक कवि सम्मेलनों में भी अपनी गरिमामय प्रस्तुति देकर पर्याप्त यश, कीर्ति अर्जित की। कुछ वर्ष पूर्व ही उन्हें कलकत्ता की एक प्रतिष्ठित संस्था द्वारा उनके नवीनतम खंड काव्य “सूली उपर सेज पिया की” पर 51000 रु. के पुरस्कार से सम्मानित किया था। वे जितने श्रेष्ठ गीतकार थे उससे कहीं अधिक शालीन, सौम्य और सुमधिर व्यक्तित्व के धनी थे। ऐसे व्यक्ति एवं गीतकार विरले ही पैदा होते हैं। उनके निधन पर साहित्य जगत में शोक की लहर है,घनश्याम भारती ने अपने शोक संदेश में कहा कि इसे दुर्भाग्य कहें या विडंबना धीरे धीरे हमारे ग्वालियर शहर के गीत के पुरोधा महाप्रयाण पर जा रहे हैं। अभी लगभग 7 माह पूर्व ही दादा रामप्रकाश अनुरागी हमसे बिछड़ गए थे और अब दामोदर जी।

नव भारत न्यूज

Next Post

पंचायत चुनाव - पहले दो दिन 13 प्रत्याशियों ने लिए फॉर्म

Wed Dec 15 , 2021
जिला पंचायत सदस्य के लिए शिवराज सिंह ने भरा फॉर्म ग्वालियर:  त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन के लिए नामांकन दाखिला की प्रक्रिया शुरू हो गई है। पहले दो दिन जिला पंचायत सदस्य के लिए डबरा-भितरवार में 13 प्रत्याशियों ने आवेदन लिए हैं। जबकि मुरार-घाटीगांव के लिए 18 प्रत्याशियों ने नामांकन फार्म लिए […]