बालाघाट में नक्सलियों ने वाहनों में लगाई आग

बालाघाट:  दो दिनो में जिले में नक्सलियों ने दूसरी बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। फिर नक्सलियो ने निर्माण कार्य में लगे वाहनो और मशीन को जलाया है। घटना के बाद से पुलिस ने घटनास्थल के आसपास सर्चिंग अभियान तेज कर दिया है वहीं चार और सुरक्षाबलों की पार्टी को सर्चिंग में भेजा गया है।हालांकि यह साफ नहीं हो सका है कि कितने नक्सलियों ने घटना को अंजाम दिया है, लेकिन संभावना जताई जा रही है कि 6 से 8 नक्सलियो ने वारदात को अंजाम दिया होगा। इस मामले में पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी ने बताया कि 6 से 8 नक्सली ने निर्माण कार्य में लगे दो ट्रेक्टर और मसाला बनाने वाली मिक्चर मशीन को जलाया है।

यह भी संभावना है कि इस घटना के दौरान लगभग 20 से 22 नक्सली घटना के आसपास छिपे रहें होंगे। उन्होंने कहा कि यह मलाजखंड दलम द्वारा की गई घटना प्रतित होती है। 4 दिसंबर को बिरसा क्षेत्र के मछुरदा चौकी के कोरका में सड़क निर्माण में लगी रोडरोलर मशीन को नक्सलियों द्वारा आग लगाने की घटना के दो दिन बाद निर्माण कार्यो को निशाना बनाने की मंशा से की गई वारदात से जहां ठेकेदारों में भय का माहौल है वहीं नक्सली लगातार घटनाओ को अंजाम देकर भय का माहौल पैदा कर रहे है। 6 दिसंबर की रात किरनापुर थाना अंतर्गत किन्ही चौकी से लगभग 15 किलोमीटर दूर चल रहे सीसी सड़क निर्माण कार्य में लगे ट्रेक्टर और मिक्चर मशीन को आग के हवाले करने क़े बाद नक्सलियों ने बीच सड़क पर बैनर और पर्चे टांगे है। जिसमें फिर 10 दिसंबर को बंद का आह्रवान किया है। साथ ही लाल कपड़े में कामरेड जीवा उर्फ मिलिंद तेलबुंडे की हत्या का निषेध करते हुए लाल कपड़े पर लिखा संदेश और पर्चे भी छोडे है।

अमले को मिलेगी पूरी सुरक्षा
नक्सलियों द्वारा आग लगाने की घटना क़े परिप्रेक्ष्य में आज कलेक्टर डॉ गिरीश कुमार मिश्रा एवं पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी ने जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में विभिन्न निर्माण कार्य कराने वाले विभागों के अधिकारियों की बैठक लेकर सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में विस्तार से चर्चा की।

कलेक्टर डॉ मिश्रा एवं पुलिस अधीक्षक श्री तिवारी ने बैठक में निर्माण विभागों के अधिकारियों से कहा कि वे जिले के दूरस्थ एवं नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में कराये जा रहे कार्यों को तेजी से पूर्ण करायें।जिला प्रशासन उन्हें पूरी सुरक्षा मुहैया करायेगा। ऐसे स्थानों पर जिला पुलिस बल, सीआरपीएफ, कोबरा बटालियन एवं हाक फोर्स की गश्ती बढ़ाई जायेगी और सुरक्षा बलों द्वारा नियमित रूप से गश्ती की जायेगी।

इनका कहना है

वाहनों में आग लगाने की हुई घटनाओं के आरोपियों की तलाश की जा रही है। जिला प्रशासन नक्सल प्रभावित क्षेत्र में चले रहे सड़क, पुल-पुलिया व निर्माण कार्यों के स्थलों पर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम कर रहा है। ऐसे स्थानों पर जिला पुलिस बल, सीआरपीएफ, कोबरा बटालियन एवं हाक फोर्स की गश्ती बड़ाई जायेगी और सुरक्षा बलों द्वारा नियमित रूप से ऐसे स्थानों पर गश्ती की जायेगी।

अभिषेक तिवारी,पुलिस अधीक्षक बालाघाट

नव भारत न्यूज

Next Post

राज्यपाल श्री पटेल ने मुकुंदपुर टाइगर सफारी का किया भ्रमण

Wed Dec 8 , 2021
मुकुंदपुर टाइगर सफारी विन्ध्य के मनोरम स्थलों में एक है – राज्यपाल सतना : के राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने रीवा जिले के तीन दिवसीय प्रवास के दौरान मंगलवार को सतना जिले के महाराजा मार्तण्ड सिंह जूदेव व्हाइट टाइगर सफारी मुकुंदपुर का भ्रमण किया। राज्यपाल ने सबसे पहले रायल बंगाल टाइगर […]