ग्वालियर में मिर्ची बाबा पर जानलेवा हमला, गाड़ी रोककर लाठी-डंडों से पीटा

ग्वालियर:  चंबल अंचल अब मिर्ची बाबा के लिए जगह सुरक्षित नहीं बची है. यही वजह है कि हर बार मिर्ची बाबा पर जानलेवा हमले हो रहे हैं. एक बार फिर स्वामी वैराग्यनंद उर्फ मिर्ची बाबा पर जानलेवा हमला हुआ है. आदित्यपुरम के पास शनिचरा मंदिर से रात में लौटते समय अज्ञात बदमाशों ने मिर्ची बाबा पर लाठी-डंडों से जानलेवा हमला कर दिया. सुरक्षा गार्ड ने जब हवाई फायरिंग की तो बदमाश मौके से भाग निकलें.बता दें कि 4 महीने में यह दूसरा मौका है, जब ग्वालियर अंचल में मिर्ची बाबा पर हमला हुआ है. सितंबर के महीने में भी बदमाशों ने फोन पर जान से मारने की धमकी दी थी. मिर्ची बाबा पर हुए हमले में पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. गौरतलब है कि स्वामी वैराग्यनंद उर्फ मिर्ची बाबा बीती रात आदित्यपुरम के पास शनिचरा मंदिर से लौट रहे थे.

तभी अज्ञात बदमाशों ने उनकी गाड़ी को चारों तरफ से घेर लिया. उसके बाद लाठी और डंडों से जानलेवा हमला कर दिया. बदमाशों ने गाड़ी पर भी पथराव किया. जिससे मिर्ची बाबा को हल्की चोट लग गई हैं. हादसे के बाद मिर्ची बाबा ने तत्काल पुलिस को सूचना दी. पुलिस मौके पर पहुंची और उन्हें थाने पर लेकर आई.मिर्ची बाबा की शिकायत पर महाराज थाना पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने बताया कि एक पक्ष से मिर्ची बाबा का जमीनी विवाद चल रहा है. इस घटना का कारण भी यही बताया जा रहा है, लेकिन अभी इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है. महाराजपुरा थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर बदमाशों की तलाश में जुट गई है. गौरतलब है कि इससे पहले अगस्त महीने में भी वैराग्यनंद को सुमित बाबा का जरेरुआ कला में आश्रम जाते समय अज्ञात बदमाशों ने उनकी कार रोककर जानलेवा हमला किया था. इसके बाद वहां से भागकर मिर्ची बाबा ने अपनी जान बचाई थी. मामले की जांच के बाद पुलिस ने हमला करने वाले चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था.

नव भारत न्यूज

Next Post

अस्पताल के चौखट पर कब से पड़ा था अधेड़ का शव,नाक,मुह में रेंग रही थीं चिटियां

Tue Dec 7 , 2021
सिंगरौली : (एनबीएन)। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र देवसर के चौखट पर एक अधेड़ का शव कब से पड़ा था। शायद स्वास्थ्य अमला अंजान रहा। उसके नाक में चिटियां तक पहुंच गयी थीं। अनुमान लगाया जा रहा है कि संभवत: उसकी मौत 24 घण्टे के पूर्व की है। स्वास्थ्य अमले व अस्पताल […]