भगवती मानव कल्याण संगठन का ताण्डव,शराब मैनेजर को पीट-पीटकर किया अधमरा

अंग्रेजी शराब दुकान मैनेजर पर किया जानलेवा हमला, हालत नाजुक, वाराणसी रेफर, बरगवां में तनाव के हालात,11 आरोपी गिरफ्तार,अन्य की तलाश जारी 

सिंगरौली :  नशामुक्ति अभियान के आड़ में भगवती मानव कल्याण संगठन के पदाधिकारियों ने बीती रात बरगवां में स्थित अंग्रेजी शराब दुकान के समीप जमकर ताण्डव करते हुए शराब दुकान के मैनेजर व अन्य स्टाफ पर लाठी,डण्डे व राड से पीट-पीटकर बृजेश सिंह को अधमरा कर बोलेरो वाहन पर पत्थरबाजी कर तोड़-फोड़ दिये। उक्त घटना को अंजाम देने में दो दर्जन से अधिक आरोपी शामिल थे। गौरतलब हो कि भगतवी मानव कल्याण संगठन ने नशामुक्ति अभियान चला रखा है।

किन्तु इनका यह अभियान अब पथ से भटककर दबंगई पर उतारू आ गये हैं। ऐसी वारदातें कई बार कर चुके हैं। बीते शनिवार की रात करीब 10.45 बजे  दो पिकअप वाहन व कई अलग-अलग मोटर साइकिलों में सवार होकर उक्त संगठन के कार्यकर्ता व पदाधिकारी बरगवां स्थित शासकीय अंग्रेजी शराब दुकान पहुंच दुकान के सामने खड़ी बोलेरो वाहन में पत्थर व लाठी,डण्डे व राड से तोड़-फोड़ करने लगे। तोड़-फोड़ की आवाज को सुनकर दुकान के मैनेजर बृजेश सिंह व अन्य स्टाफ सोनू सिंह, संजय यादव मना करने लगे।

आरोप है कि उक्त संगठन के आरोपियों ने बृजेश सिंह सहित अन्य स्टाफ पर लाठी,डण्डे व राड से हमला करना शुरू कर दिया। प्रत्यक्षदर्शी बताते हैं कि जब बृजेश सिंह गंभीर रूप से अचेत होकर लहु-लुहान हालत में गिर पड़े तब आरोपी फरार हो गये। लेकिन उनकी यह करतूत आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गयी। बताया जा रहा है कि घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंच घायलों को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर रवाना किया। जिसमें मैनेजर बृजेश सिंह की हालत नाजुक होने पर चिकित्सकों ने वाराणसी के लिए रिफर कर दिया है।

इन पर दर्ज हुआ मामला

फरियादी संजय यादव पिता बिरेन्द्र यादव उम्र 30 वर्ष निवासी आजमगढ़ उ.प्र. हाल अंग्रेजी शराब दुकान बरगवॉ की रिपोर्ट पर बरगवां पुलिस ने  आरोपी विजय बहादुर वैस, रामाधीन वैस, महेन्द्र प्रसाद वैस, परमानंद वैस, बद्री प्रसाद बैस सभी निवासी भलुगढ़ थाना बरगवॉ, संतोष वैस, जयलाल यादव निवासी पोखरा थाना बरगवॉ, ठाकुर पाल निवासी बड़ोखर, श्याम सुंदर यादव निवासी परहासी, थाना बरगवॉ बिरेस वैस निवासी घिनहागॉव एवं अन्य 10-12 व्यक्तियों के विरूद्ध थाना बरगवॉ में धारा 458, 324, 323,294, 506, 427, 34 ता.हि.का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस ने तत्परता से कार्रवाई करते हुए 6 नामजद एवं 5 अन्य कुल 11 आरोपियों को गिरफ्तार कर ज्युडिसियल रिमाण्ड पर भेजा गया है।

घटना में एक ठेकेदार पर शक की सुई

संगठन की उग्र गतिविधियों एवं कथित अवैध वसूली के कारण शराब ठेकेदारों एवं संगठन के कार्यकर्ताओं के मध्य तनाव की स्थिति बनी हुई है। आरोप है कि भगवती मानव कल्याण संगठन जिला इकाई सिगरौली द्वारा 1 शराब ठेकेदार के इशारों पर अन्य ठेकेदारों को निशाना बनाया जा रहा है। भगवती मानव कल्याण संगठन द्वारा शराब ठेकेदारों की प्रतिस्पर्धा में शामिल होकर व्यक्ति विशेष को लाभ पहुचॉने के लिए अन्य ठेकेदारों की शराब पकड़वाये जाने तथा इस दौरान शराब व्यवसाय के कर्मचारियों के साथ दुव्र्यवहार, गाली-गलौज एवं मारपीट के कारण क्षेत्र में शांति व्यवस्था प्रभावित हो सकती है।

घटना को लेकर चौतरफा हो रही भत्र्सना

भगवती मानव कल्याण संगठन सिंगरौली के कार्यकर्ताओं ने बीती रात अंग्रेजी शराब दुकान के मैनेजर व अन्य स्टाफ पर हमला किया। इस घटना को लेकर समूचे क्षेत्र में उक्त संगठन के दबंग, अराजक कार्यकर्ताओं की भत्र्सना की जा रही है। क्षेत्र में चर्चा है कि उक्त संगठन के लोग अब निजी स्वास्थ्य पर अमादा हैं। सरकार ठेके पर शराब दिया है और इसके बदले में ठेकेदार ने करोड़ों रूपये सरकार को अदा भी किया है। जिस तरह से उक्त संगठन के लोग नशामुक्ति अभियान के आड़ में मारपीट कर रहे हैं ऐसे में साबित हो रहा है कि कहीं न कहीं ठेकेदारों पर दबाव बनाने का एक तरीका तलाशा जा रहा है। ऐसे संगठनों के विरूद्ध सख्ती के साथ प्रशासन कार्रवाई करे अन्यथा अराजकता और बढ़ जायेगी और अराजकतत्वों तथा सरहंगों का मनोबल बढ़ता जायेगा। यहां यह भी चर्चा है कि उक्त संगठन के कार्यकर्ताओं ने पुरानी घटना का बदला लेने के नियत से योजनाबद्ध तरीके से हमला किया है। कल शनिवार को बड़ोखर गांव में आरती का आयोजन था। यहीं रूप रेखा तैयार किया गया।

रामाधीन ने लगाया मारपीट करने का आरोप 

रामाधीन बैस ने एसपी के यहां शिकायत किया है कि अंग्रेजी शराब दुकान बरगवां के अश्वनी प्रताप सिंह, सोनू सिंह, मनोज सिंह व अन्य ने बीती रात करीब 11-12 बजे मेरा पीछा कर गोरबी चौराहा के पास मारपीट करते हुए हमला कर दिये। जबकि आस-पास के लोग बताते हैं कि जिस वक्त उक्त संगठन के लोगों ने शराब दुकान के मैनेजर व अन्य स्टाफ पर हमला किया उस वक्त रामाधीन सहित अन्य आरोपी भागने लगे। इसी दौरान रामाधीन जमीन पर गिर पड़ा। हालांकि भगवती मानव कल्याण संगठन के अध्यक्ष श्यामलाल बैस का आरोप है कि पुलिस शराब दुकानदारों पर कार्रवाई नहीं कर रही है।

इनका कहना है

बरगवां की घटना दुर्भाग्य पूर्ण है। कानून को अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। 11 आरोपी गिरफ्तार किये गये हैं। अन्य आरोपियों की तलाश जारी है। फरियादी की हालत गंभीर बनी हुई है। बरगवां पुलिस आरोपियों के विरूद्ध सख्ती के साथ कार्रवाई कर रही है।

वीरेन्द्र कुमार सिंह

पुलिस अधीक्षक, सिंगरौली

नव भारत न्यूज

Next Post

मध्यप्रदेश में कोरोना के 12 नए मामले

Mon Nov 29 , 2021
भोपाल, 29 नवंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के कोरोना के 12 नए मामले सामने आए हैं। इसी के साथ सक्रिय मरीजों की संख्या अब 126 हो गयी है। राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आज यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 12 […]