आरोपियों के ठिकानों पर पुलिस की दबिश

वन परिक्षेत्राधिकारी व उनके टीम पर रेत माफियाओं ने किया था हमला,दूसरे दिन भी आरोपियों की तलाश जारी

सिंगरौली :  गांव में वन परिक्षेत्राधिकारी सहित उनकी टीम पर पत्थर व लाठी-डण्डे से हमला करने वाले आरोपियों को पकडऩे के लिए गढ़वा पुलिस दूसरे दिन क्योंटिली गांव में दबिश दी, लेकिन आरोपी पुलिस के हांथ नहीं लगे। पुलिस फरार आधा दर्जन से अधिक आरोपियों की तलाश कर रही है।गौरतलब हो कि क्योंटिली व बडऱम गांव के सोन नदी से रेत की हो रही अवैध उत्खनन व परिवहन को रोकने के लिए सोन घडिय़ाल अभ्यारण्य बगदरा,बीछी के परिक्षेत्राधिकारी जीतेन्द्र कुमार अपने टीम के साथ 24 नवम्बर की शाम क्योंटिली व बडऱम गांव के सोन नदी घाट पहुंच मार्गों पर जेसीबी मशीन से गड्ढा खोदाई कर रहे थे। इसी दौरान रेत कारोबारी भारी संख्या में पहुंच सोन घडिय़ाल अमले का विरोध करने लगे।

इसके बावजूद वन विभाग की टीम अघोषित सड़कों में गड्ढो खोदवाने का कार्य कराती रही तभी रेत कारोबारी वन अमले की टीम पर पत्थर, लाठी-डण्डे से हमला कर कईयों के मोबाइल छिन लिये गये। वहीं परिक्षेत्राधिकारी सहित अन्य वन सुरक्षा कर्मियों को काफी चोटे आयीं। घटना की सूचना गढ़वा थाना व नौडिहवा पुलिस को दी गयी। जहां पुलिस घटना स्थल पहुंच रेत माफियाओं की तलाश में जुट गयी। बीटगार्ड देवरा के रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपियों के विरूद्ध मामला दर्ज कर लिया। कल गुरूवार को एसडीओपी राजीव पाठक व तहसीलदार सहित गढ़वा, चितरंगी तथा एसएएफ के जवानों ने संयुक्त रूप से फ्लैग मार्च कर आरोपियों के घरों में दबिश देती रही लेकिन आरोपी घटना के बाद से ही फरार हैं। इस संबंध में गढ़वा टीआई मनोज सोनी ने बताया कि आज दूसरे दिन भी फरार आरोपियों की तलाश में पुलिस ने कई जगह उनके ठिकानों पर दबिश दी गयी। आरोपी फरार हैं जिनकी तलाश लगातार जारी है।

संपत्ति कुर्क करने की तैयारी में पुलिस
पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह ने कल गुरूवार को नवभारत से चर्चा करते हुए कहा था कि अवैध रेत कारोबार में जुड़े व वन विभाग की टीम पर हमला करने वाले आरोपियों को बक्सा नहीं जायेगा। उन पर कड़ा एक्शन लिया जायेगा। पुलिस अधीक्षक के आगाह के बाद संकेत मिल रहे हैं कि सोन घडिय़ाल अभ्यारण्य टीम पर हमला करने वाले फरार आरोपियों की संपत्ति कुर्क करने की तैयारियां शुरू कर दी गयी हैं। पुलिस सूत्रों ने इस बात का संकेत दिया है कि किसी भी हालत में आरोपी बक्से नहीं जायेंगे। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की अलग-अलग टीमें बनायी गयी हैं।
इनका कहना है
वन विभाग की टीम पर हमला करने वाले आरोपियों की पहचान कराकर उनकी तलाश लगातार जारी है। साथ ही फरार आरोपियों के संपत्ति कुर्क करने की भी तैयारियां की जावेगी। आज दूसरे दिन भी उनके ठिकानों पर दबिश दी गयी।
राजीव पाठक
प्रभारी एसडीओपी,चितरंगी

नव भारत न्यूज

Next Post

मोरवा-गोरबी मार्ग में 5 घण्टे तक लगा रहा लंबा जाम

Sat Nov 27 , 2021
मोरवा व गोरबी वासी जाम व प्रदूषण से त्रस्त, एनएच 39 का कार्य मंथरगति से सिंगरौली :जिला मुख्यालय से जोड़ती हर सड़कें तो चमचमाती सी दिखती है, परंतु कोल नगरी के मुख्यालय से प्रसिद्धि पाए सिंगरौली जिले की पहचान   रहा मोरवा अब टापू सा बनता नजर आ रहा है। जहां पहुंचने […]