भारत और अमेरिका इक्वलाइजेशन लेवी 2020 पर सहमत

नयी दिल्ली (वार्ता) भारत और अमेरिका अर्थव्यवस्था के डिजिटलीकरण से पैदा चुनौतियों के दो चरणों वाले समाधान पर समझौते के लिए ओईसीडी/जी20 समावेशी फ्रेमवर्क (ऑस्ट्रिया, फ्रांस, इटली, स्पेन और ब्रिटेन सहित) 134 अन्य देशों के साथ शामिल हो गए हैं।

21 अक्टूबर, 2021 को अमेरिका, ऑस्ट्रिया, फ्रांस, इटली, स्पेन और ब्रिटेन पहले चरण को लागू करते समय मौजूदा एकतरफा उपायों पर एक मध्यवर्ती दृष्टिकोण पर सहमत हो गए थे।समझौते की झलक संयुक्त बयान में नजर आई, जो उक्त छह देशों ने उसी दिन जारी किया था।

भारत और अमेरिका इस बात पर सहमत हो गए हैं कि 21 अक्टूबर के संयुक्त बयान में शामिल शर्तें भारत के ई-कॉमर्स सेवाओं की आपूर्ति पर लगाई जा रही 2 प्रतिशत इक्वलाइजेशन लेवी और अमेरिका के संबंधित इक्वलाइजेशन लेवी के संबंध में की गई व्यापार कार्रवाई पर भी लागू होंगी।
हालांकि, अंतरिम अवधि 1 अप्रैल, 2022 से चरण 1 के लागू होने तक या 31 मार्च, 2024 तक, जो भी पहले हो, लागू रहेगी।

भारत और अमेरिका यह सुनिश्चित करने के लिए नजदीकी संपर्क में रहेंगे कि संबंधित प्रतिबद्धताओं और इस मसले पर विचारों में किसी भी प्रकार के मतभेद के रचनात्मक संवाद के माध्यम से समाधान निकालने का प्रयास किया जाए।

समझौते की शर्तों को 1 फरवरी, 2022 तक अंतिम रूप दिया जाएगा।

नव भारत न्यूज

Next Post

मोदी ने प्रगति बैठक में पोषण अभियान, आठ परियोजनाओं की समीक्षा की

Thu Nov 25 , 2021
नयी दिल्ली, 25 नवंबर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को प्रगति की 39वीं बैठक में रेल , सड़कों और पेट्रोलियम सहित विभिन्न क्षेत्रों की 20 हजार करोड़ रुपये की आठ परियोजनाओं और राष्ट्रीय पोषण अभियान सहित नौ विषयों की समीक्षा की। सरकारी बयान के मुताबिक प्रधानमंत्री ने समीक्षा के […]