अयोध्या के लिए पहली ट्रेन तीन दिसंबर को होगी रवाना : केजरीवाल

नयी दिल्ली, 24 नवंबर (वार्ता) दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रामलला का दर्शन करने के इच्छुक यहाँ के बुजुर्गों को अधिक से अधिक आवेदन करने की अपील करते हुए कहा कि तीन दिसंबर को पहली ट्रेन अयोध्या के लिए रवाना होगी।
श्री केजरीवाल ने संवाददाता सम्मेलन में बुधवार को कहा कि दिल्ली के लोगों के लिए आज एक खुशखबरी है। मैं पिछले महीने अयोध्या गया था। वहां पर श्रीराम चंद्र जी के रामलला के दर्शन हुए और बहुत अच्छा लगा। जब मैं वहां से बाहर निकला तो मन में एक भाव आया कि हे भगवान! मुझे इतनी शक्ति और योग्यता देना कि मैं देश के हर व्यक्ति को अयोध्या के दर्शन करा सकूं। हमारी ‘मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा’ योजना में शामिल 12 जगहों पर अपने बुजुर्ग तीर्थ यात्रा करने जा सकते हैं। इन 12 जगहों में से कोई भी व्यक्ति किसी भी स्थान को चुन सकता है। इसमें हम पुरी, द्वारकाधीश, हरिद्वार, रामेश्वरम, शिरडी और अजमेर समेत कई जगह ले जाते हैं। अयोध्या से वापस दिल्ली आते ही हमने ‘मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा’ योजना में अयोध्या को भी शामिल कर लिया। इस तीर्थ यात्रा योजना में दिल्ली का रहने वाला कोई भी बुजुर्ग इसका लाभ उठा सकता है। वह अपने साथ अटेंडेंट के तौर पर अपने घर के किसी एक युवा आदमी को भी लेकर जा सकता है। एक बुजुर्ग के साथ एक युवा व्यक्ति को जाने की अनुमति है। दिल्ली में अभी तक 36 हजार लोग इसका लाभ उठा चुके हैं। अयोध्या दर्शन के लिए इच्छुक दिल्ली के पात्र लोग ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल पर जाकर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। तीर्थ यात्रियों की संख्या अधिक होने पर हम दूसरी ट्रेन लगाएंगे, लेकिन मैं हर एक को रामलला के दर्शन कराकर लाउंगा।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना में हमने अयोध्या को भी शामिल किया है। आज मुझे यह कहते हुए बेहद खुशी हो रही है कि दिल्ली से अयोध्या के लिए पहली ट्रेन तीन दिसंबर को जाएगी। उसके लिए पंजीकरण शुरू हो गए हैं। अयोध्या जाने के लिए इच्छुक पात्र लोग हमारे दिल्ली सरकार के ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल पर जाकर पंजीकरण करा सकते हैं। आप लोग इसकी चिंता मत करना कि पंजीकरण ज्यादा हो जाएंगे, तो आप रह जाएंगे। हर किसी का दर्शन का मौका मिलेगा। अगर पंजीकरण संख्या ज्यादा हो जाएगी तो दूसरी ट्रेन लगा देंगे। इससे भी ज्यादा लोग हो गए, तो तीसरी ट्रेन लगा देंगे। दूसरी ट्रेन हफ्ते भर बाद चलायी जाएगी, लेकिन सबको लेकर जाएंगे। इसलिए रामलला के दर्शन के लिए सब लोग आवेदन करें। मैं चाहता हूं कि ज्यादा से ज्यादा लोग अयोध्या जी के दर्शन करने के लिए जाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि क्रिश्चियन (ईसाई) भाइयों की मांग थी कि इस लिस्ट में उनका कोई तीर्थ स्थान शामिल नहीं है। आज मैं उनके लिए भी एक अच्छी खबर देना चाहता हूं। बहुत सारे ईसाई भाई वेलंकन्नी चर्च जाना चाहते हैं। हम बहुत जल्द ही वेलंकन्नी चर्च को भी तीर्थ यात्रा की सूची में शामिल करने जा रहे हैं और अब ईसाई भाई भी अपनी मर्जी के मुताबिक तीर्थ यात्रा पर जा सकेंगे। तीर्थ यात्रा पर जाने वाले आप सभी लोगों की तीर्थ यात्रा शुभ और मंगलमय हो। सबको भगवान का आशीर्वाद मिले और भगवान की कृपा से सब लोग खुश और स्वस्थ्य रहें।

नव भारत न्यूज

Next Post

चेन्नई में दो अप्रैल से शुरू हो सकता है आईपीएल 2022 संस्करण

Wed Nov 24 , 2021
नयी दिल्ली, 24 नवंबर (वार्ता) दुनिया के सबसे लोकप्रिय लीग क्रिकेट में से एक आईपीएल के 2022 संस्करण की शुरुआत अगले साल दो अप्रैल से हो सकती है। समझा जाता है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) आईपीएल 2022 संस्करण को अगले साल दो अप्रैल से शुरू करने की योजना […]