18 साल बाद सीएम को बिरसा मुंडा जयंती मनाने की याद आई

आदिवासी के नाम पर बीजेपी सिर्फ वोट बैंक की राजनीति कर रही जयंती पर बिरसा मुंडा को नमन करने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ बोले

जबलपुर:  25 साल कीउम्र में शहीद बिरसा मुंडा द्वारा आदिवासियों के हित में वो काम किए की आज उन्हें पूरा देश नमन कर रहा है। उन्होंने इतनी कम उम्र में समाज सेवा से जो नाम कमायाए उसे हम 146 साल बाद भी याद कर रहे
है लेकिन आज अचानक 18 साल बाद सीएम को बिरसा मुंडा जयंती मनाने की याद आई है। ये सरकार हमारे आदिवासी समाज के भोले-भाले लोगों को बरगलाने का काम करती है और हमारे सीएम सिर्फ आदिवासियों के नाम पर योजनाएं गिनाते हैं।

बीजेपी आदिवासी के नाम पर सिर्फ वोट बैंक की राजनीति कर रही है। ये बातें पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ अमर शहीद बिरसा मुंडा जयंती के अवसर पर जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग ग्राउंड से आदिवासियों
को संबोधित करते हुए बोल रहे थे। दरअसल आदिवसी नेत्री और पूर्व कैबिनेट मंत्री कौशल्या गोंटिया के संयोजन में शबरी महासंघ द्वारा विगत एक नम्बर से बिरसा मुंडा जयंती पखवाड़ा मनाया जा रहा है। जवाहर लाल नेहरू कृषि
विवि परिसर स्थित स्टेडियम में आयोजित समारोह में शामिल हुए राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने इसके पहले अधारताल तिराहा स्थित बिरसा मुंडा की प्रतिमा स्थल पर पहुंचकर माल्यापर्ण
कर आदिवसी जननायक को नमन किया।

सरकार बदल जाती है लेकिन दलाल नहीं: दिग्विजय
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आदिवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रशासकीय तंत्र में अच्छे लोग भी होते हैं लेकिन अधिकांश में कमीशन बाजी होती है। सरकार बदल जाती लेकिन
दलाल नहीं बदलते। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जब हमारी सरकार थी तब जनपद, जिला परिषद, नगर निगम को शिक्षकों की भर्ती का अधिकार दिया था, ताकि स्थानीय लोगों को नौकरी मिले। उन्हें शिक्षाकर्मियो, गुरुजी की नौकरी भी
मिली। मध्य प्रदेश के बाहर रहने वाले व्यक्ति को नौकरी ना मिले इसलिए हमने नियम बनाया था कि मध्य प्रदेश से दसवीं और बारहवीं की पढ़ाई करने वालों को ही नौकरी दी जाएगी।

हमें एक बार फिर हक की लड़ाई लडऩी होगी-
पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा कि हमारे सीएम सिर्फ  झूठ बोलते हैं। आदिवासी नौजवानों को एक बार फिर अपने हक की लड़ाई लडऩी होगी। प्रदेश में आदिवासी समाज की आबादी 1.65 करोड़ है। ऐसे में बिना आदिवासी समाज को आगे
बढ़ाए, प्रदेश का विकास संभव नहीं है। लेकिन बीजेपी आदिवासियों को उनका हक नहीं देना चाहती है। हम संकल्प लेते हैं कि कांग्रेस की सरकार बनेगी, तो सबसे अधिक प्राथमिकता आदिवासी समाज को देंगे।

नव भारत न्यूज

Next Post

ठग ने महिला खाते से निकाल ली विधवा पेंशन

Tue Nov 16 , 2021
सेंट्रल बैंक का मामला, एफआईआर दर्ज जबलपुर:  बेलखेड़ा के सेंट्रल बैंक से एक जालसाज ने महिला के खाते से विधवा पेंंशन निकाल ली। इसका खुलासा उस वक्त हुआ जब महिला खुद अपनी पेंशन निकालने बैंक पहुंची। इसके बाद पीडि़ता ने थाने पहुंचकर पुलिस को पूरे घटनाक्रम सेे अवगत कराया। जिसके […]