2028 ओलंपिक में क्रिकेट को शामिल करने के लिए बोली लगाएगा आईसीसी

दुबई, 10 अगस्त (वार्ता) अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) 2028 ओलंपिक में क्रिकेट को शामिल करने के लिए बोली लगाएगा। क्रिकेट के विश्व निकाय ने मंगलवार को इसकी पुष्टि की है।
आईसीसी ने खेल की ओर से बोली का नेतृत्व करने के लिए एक कार्य समूह का गठन किया है जो लॉस एंजिलस 2028, ब्रिस्बेन 2032 और उससे आगे के लिए क्रिकेट को ओलंपिक परिवार का हिस्सा बनाने पर केंद्रित रहेगा।
आईसीसी की ओर से मंगलवार को जारी विज्ञप्ति के मुताबिक अमेरिका में 30 मिलियन यानी तीन करोड़ क्रिकेट प्रशंसक रहते हैं, जिससे एलए 2028 क्रिकेट के लिए ओलंपिक प्रतियोगिता में वापसी करने के लिए आदर्श खेल बन गए हैं। उल्लेखनीय है कि क्रिकेट ने अब तक ओलंपिक में सिर्फ एक उपस्थिति दर्ज की है और वो भी पैरिस 1900 में, जब केवल दो टीमें ग्रेट ब्रिटेन और मेजबान फ्रांस एक दूसरे के साथ खेली थी। अगर 2028 में क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल किया जाता है तो 128 साल की लंबी गैर मौजूदगी खत्म हो जाएगी।
क्रिकेट हालांकि अगले साल बर्मिंघम 2022 राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल होगा, जो इस बात का एक आदर्श प्रदर्शन है कि क्रिकेट ओलंपिक में क्या ला सकता है, साथ ही यह अपने आप में एक महत्वपूर्ण अवसर भी है।

आईसीसी के प्रमुख ग्रेग बार्कले ने कहा कि ओलंपिक खेलों में क्रिकेट को शामिल करने से क्रिकेट और खुद ओलंपिक खेलों को फायदा होगा। उन्होंने एक बयान में कहा, “ सबसे पहले मैं आईसीसी की ओर से आईओसी (अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति), टोक्यो 2020 और जापान के लोगों को ऐसी कठिन परिस्थितियों में इस तरह के अविश्वसनीय खेलों का आयोजन करने के लिए बधाई देना चाहता हूं। यह देखना सच में शानदार था। हम क्रिकेट को भविष्य में होने वाले ओलंपिक खेलों का हिस्सा बनता हुए देख पसंद करेंगे। ”
बार्कले ने कहा, “ ओलंपिक में बोली के पीछे हमारा खेल एकजुट है और हम ओलंपिक को क्रिकेट के दीर्घकालिक भविष्य के हिस्से के रूप में देखते हैं। विश्व स्तर पर हमारे एक अरब से अधिक प्रशंसक हैं और इनमें से लगभग 90 प्रतिशत ओलंपिक में क्रिकेट देखना चाहते हैं। सीधी बात करें तो क्रिकेट का एक मजबूत और भावुक प्रशंसक आधार है, विशेष रूप से दक्षिण एशिया में जहां हमारे 92 प्रतिशत प्रशंसक हैं, जबकि अमेरिका में भी 30 मिलियन यानी तीन करोड़ क्रिकेट प्रशंसक हैं। उन प्रशंसकों के लिए अपने नायकों को ओलंपिक पदक के लिए प्रतिस्पर्धा करते देखने का अवसर आकर्षक है। हमारा मानना है कि क्रिकेट ओलंपिक खेलों के लिए एक शानदार संयोजन होगा, लेकिन हम जानते हैं कि हमारे समावेश को सुरक्षित करना आसान नहीं होगा क्योंकि यहां कई अन्य महान खेल भी ऐसा करना चाहते हैं। पर हमें लगता है कि अब समय आ गया है कि हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें और यह दिखाएं कि क्रिकेट और ओलंपिक कितनी अच्छी साझेदारी है। ”
समझा जाता है कि आईसीसी के ओलंपिक वर्किंग ग्रुप की अध्यक्षता इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के अध्यक्ष इयान वाटमोर करेंगे। उनके साथ आईसीसी की स्वतंत्र निदेशक इंदिरा नूयी, जिम्बाब्वे क्रिकेट के अध्यक्ष तवेंगवा मुकुहलानी, आईसीसी के एसोसिएट सदस्य निदेशक और एशियाई क्रिकेट परिषद के उपाध्यक्ष महिंदा वल्लीपुरम और अमेरिका क्रिकेट के अध्यक्ष पराग मराठे शामिल होंगे। मराठे का मानना ​​है कि अब समय आ गया है कि क्रिकेट ओलंपिक में अपनी लंबे समय से प्रतीक्षित वापसी करे। उन्हें विश्वास है कि ओलंपिक में क्रिकेट को शामिल करने से अमेरिका में क्रिकेट के विकास में तेजी आएगी।
मराठे ने एक बयान में कहा, “ अमेरिका क्रिकेट ओलंपिक में जुड़ने के लिए क्रिकेट की बोली का समर्थन करने में सक्षम होने के लिए रोमांचित है। इसका समय अमेरिका में क्रिकेट को विकसित करने की हमारी निरंतर योजनाओं के साथ पूरी तरह से संरेखित है। अमेरिका में पहले से ही इतने सारे उत्साही क्रिकेट प्रशंसकों और खिलाड़ियों के साथ और दुनिया भर में क्रिकेट के अनुसरण के मद्देनजर हम मानते हैं कि क्रिकेट का समावेश लॉस एंजिल्स 2028 ओलंपिक खेलों में महान मूल्य जोड़ेगा और हमें अपना लक्ष्य हासिल करने में मदद करेगा। ”

नव भारत न्यूज

Next Post

महिलाओं के सुर,उज्ज्वला ने उज्‍जवल किया जीवन

Tue Aug 10 , 2021
लखनऊ, 10 अगस्‍त (वार्ता) उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण के शुभारंभ के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से देश की महिलाओं ने संवाद स्‍थापित किया। कार्यक्रम में उत्‍तर प्रदेश, देहरादून, गोवा, पंजाब की महिलाओं ने इस स्‍वर्णिम योजना के लिए प्रधानमंत्री का आभार व्‍यक्‍त किया। महिलाओं ने एक स्‍वर में […]