नपा मेें 38 लाख की लिफ्ट उपयोगविहिन

अधिकारियों के साथ सामान लाने ले जाने के आ रही काम

मंदसौर: नगरपालिका की लिफ्ट का निर्माण बुजुर्गो और दिव्यांगों के लिए किया गया। पहले लिफ्ट समय सीमा में तैयार नहीं हो पाई। इसके बाद लंबे समय तक बड़े नेता के इंतजार में इसका शुभारंभ रुका रहा। अब जब लिफ्ट शुरु हो गई तो काम अधिकारियों और सामान लाने ले जाने के आ रही है। लगभग अड़तीस लाख की लिफ्ट का उपयोग दिव्यांग और बुजुर्ग नहीं कर पा रहे। जबकि इसका निर्माण इन्हीं के लिए कराया गया था।

नगरपालिका की लिफ्ट शुरु से ही चर्चाओं में रही। पहले बनने में देरी और उसके बाद शुभारंभ में अध्यक्षों ने अपनी वाह वाही लूटने के लिए बड़े नेता के इंतजार में लंबा समय लगा दिया। नगरपालिका में सामाजिक न्याय विभाग एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा दिव्यांगजनों व बुजुर्गों की सुविधा के लिए 37.75 लाख की लागत से लिफ्ट लगाई है। दो साल में निर्माण पूरा हुआ। इसके बाद करीब डेढ़ साल तक शुभारंभ के इंतजार में लिफ्ट शुरू नहीं हो पाई। इसी वर्ष पांच अगस्त को प्रदेश सरकार में मंत्री हरदीपसिंह डंग ने लिफ्ट का शुभारंभ किया था।

इसके बाद उम्मीद थी कि नपा की लिफ्ट का उपयोग जनता कर सकेगी और नपा के तीन मंजिला भवन में लोगों को आने-जाने के लिये सीढिय़ां नहीं चढऩा पड़ेगी। नपा में आने वाले बुजुर्गो और दिव्यांगों को सबसे ज्यादा सहूलियत होगी। लेकिन लिफ्ट प्रारंभ होने के तीन माह बाद करीब 38 लाख की लिफ्ट का उपयोग जनता नहीं कर पा रही है। वर्तमान में नपा में आने वाले दिव्यांगों और बुजुर्गो को परेशान होते हुए तीन मंजिल तक सीढिय़ां चढ़कर अपने काम के लिये कार्यालयों तक पहुंचना पड़ रहा है।

सौ दिव्यांग और बुजुर्गों रोज पहुंचते नपा
नगरपालिका में विभिन्ना योजनाओं की जानकारी लेने, अन्य कार्यों के लिए करीबन 500 से अधिक लोग प्रतिदिन नगर पालिका में जाते हैं। इनमें 5-10 प्रश दिव्यांग व वृद्धजन हैं। तीन मंजिला नगर पालिका में सभी को सीढियां चढकर ही जाना पड रहा है। सीढिय़ां चढऩे में अक्षम होने के कारण बुजुर्ग एवं दिव्यांगजन दूसरी एवं तीसरी मंजिल पर बैठे अधिकारी-कर्मचारियों तक नहीं पहुुंच पाते हैं। लिफ्ट शुरू होने से उम्मीद थी कि दिव्यांगों व बुजुर्गो को सहूलियत मिलेगी लेकिन अभी भी जनता को परेशान ही होना पड़ रहा है।

बंद रहती है लिफ्ट
नपा में लिफ्ट को चलाने की बजाय अधिकारी दिनभर लिफ्ट को बंद ही रखते है। जब अधिकारियों को आना-जाना हो तब कुछ देर के लिये लिफ्ट को चालू करने के बाद फिर बंद कर देते है। इसके साथ ही नपा के अधिकारी कुछ सामान व फाइलों को ऊपर से नीचे या नीचे से ऊपर ले जाने के लिये उपयोग कर रहे है।

नव भारत न्यूज

Next Post

वृद्धाश्रम के लिए दान किये एक लाख

Sat Nov 13 , 2021
  जबलपुर:  शहर की डॉक्टर रंजना गुप्ता और उनकी मां मनोरमा गुप्ता ने अपने पिता और पति स्वर्गीय श्री शिव चरण लाल गुप्ता की 11 वी पुण्यतिथि पर वृद्धाश्रम के लिए दान स्वरूप एक लाख रुपए का चेक कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा को सौपा।इस अवसर पर रेड क्रॉस के सचिव […]