उत्तर प्रदेश की ‘डबल इंजन’ सरकार किसानों की उपज की खरीद के रिकार्ड बना रही है: मोदी

कुशीनगर (उत्तर प्रदेश), 20 अक्टूबर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के कामकाज की सराहना करते हुए बुधवार को कहा कि राज्य की ‘डबल इंजन’ सरकार किसानों से उनकी उपज की खरीद के नए रिकार्ड कायम कर रही है।
उन्होंने कहा कि भारत सरकार की जैव-ईंधन और इथेनॉल उत्पादन को प्रोत्साहित करने की नीति का सबसे अधिक फायदा उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों को होगा और कच्चे तेल के आयात पर निर्भरता कम होगी। वह यहां अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के उद्घाटन और एक चिकित्सा महाविद्यालय तथा सैकड़ों करोड़ रुपये की विकास की विभिन्न परियोजनाओं के शिलान्यास के उपलक्ष्य में आयोजित एक जन-सभा को संबोधित कर रहे थे।
प्रधानमंत्री ने कहा उत्तर प्रदेश की ‘डबल इंजन’ (मोदी-योगी की शक्ति वाली) सरकार के समय में किसानों की उपज की खरीद के नए रिकार्ड बना रही है। प्रदेश में किसानों को उनके खाते में उनकी उपज के मूल्य के रूप में 80,000 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है।
श्री मोदी ने कहा कि ‘गरीब और छोटे किसानों की भलाई और उन्हें ताकत देने के लिए बनायी गयी’ प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत उत्तर प्रदेश के किसानों के खाते में सीधे 37,000 करोड़ रुपये पहुंचाए गए हैं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में किसानों काे गन्ने का सबसे ज्यादा दाम मिल रहा है। उन्होंने कहा, “आज गन्ने का सबसे ज्यादा दाम जो सरकार दे रही है, उसका नाम है उत्तर प्रदेश। ”
उन्होंने यह भी कहा कि 2017 में योगी सरकार से पहले के पांच साल में प्रदेश के गन्ना किसानों को उनके गन्ने के एक लाख करोड़ रुपये के भुगतान किए गए थे। योगी सरकार के कार्यकाल में अब गन्ना किसानों को डेढ़ लाख करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है जबकि अभी सरकार के ‘पांच साल पूरे भी नहीं हुए हैं।’
श्री मोदी ने कहा कि भारत सरकार की नयी जैव ईंधन तथा इथेनॉल नीति से सबसे ज्यादा फायदा चीनी के प्रमुख उत्पादक प्रांत उत्तर प्रदेश को ही होगा।
गौरतलब है कि नयी नीति के तहत सरकार ने इथेनॉल इकाइयां लगाने के लिए मिलों को प्रोत्साहन और वित्तीय सुविधाएं दे रही है। इसमें गन्ने के रस से सीधे इथेनाल बनाने की छूट दी गयी ताकि इसकी उपलब्धता बढ़े और पेट्रोल में इसका मिश्रण बढ़ाया जा सके। सरकार का मानना है कि इससे मिलों को चीनी के रुके स्टॉक की समस्या का मुकाबला करने में मदद मिलेगी। उनका नकदी प्रवाह सुधरेगा और उन्हें किसानों को उनके गन्ने का भुगतान करने में सुगमता होगी।
श्री मोदी ने कहा कि जैव ईंधन और इथेनॉल का उत्पादन बढ़ाने से देश को कच्चे तेल का आयात घाटाने में मदद मिलेगी। गौरतलब है कि भारत अपनी पेट्रोलियम की जरूरत का करीब 80 प्रतिशत आयात करता है। कच्चे तेल का भाव अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस समय 84 डालर प्रति बैरल से भी ऊपर चला गया है और इससे भारत में पेट्रोलियम ईंधन के दाम रिकार्ड ऊंचाई पर चल रहे हैं।
प्रधानमंत्री ने अपने भाषण के शुरू में कहा कि भगवान बुद्ध की निर्वाण स्थली कुशीनगर में विश्व भर से श्रद्धालु आते हैं। यहां अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा शुरू हो जाने से और आज शुरू की गयी अन्य परियोजनाओं से पूर्वांचल और प्रदेश को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि ये परियोजनायें ‘पांच माह के लिए नहीं बल्कि प्रदेश के 25 साल के विकास की बुनियाद तैयार करने की योजना का हिस्सा हैं।’ यहां बनने वाले मेडिकल कालेज से बिहार के सीमावर्ती इलाकों के लोगों को भी फायदा होगा।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की नयी शिक्षा नीति के लागू होने से अब गांव और गरीब के बच्चों को मेडिकल और इंजीनिरिंग की पढ़ाई अपनी भाषा में करने का अवसर मिला है। उन्होंने कहा,“डॉक्टर और इंजीनियर बनने के बच्चों के सपने में अब भाषा बाधक नहीं होगी।”
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव अगले वर्ष की शुरूआत में होने हैं और श्री मोदी का पिछले कुछ महीनों यह उत्तर प्रदेश का तीसरा दौरा है। वह कुछ दिनों पूर्व अलीगढ़ और लखनऊ गये थे।

नव भारत न्यूज

Next Post

आगरा में मृत सफाईकर्मी के परिजनो से मिलने जा रही प्रियंका को रोका गया

Wed Oct 20 , 2021
लखनऊ 20 अक्टूबर (वार्ता) चोरी के आरोप में पूछताछ के दौरान पुलिस हिरासत में मृत सफाईकर्मी अरूण वाल्मीकि के परिजनो से मिलने आगरा जा रही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को आगरा एक्सप्रेस वे पर रोका गया जिससे आक्रोशित कांग्रेसियाें ने जमकर नारेबाजी की। श्रीमती वाड्रा ने पुलिस के रवैये […]