आज होगा रावण-कुंभकर्ण के पुतलों का दहन

लगभग 300 सुरक्षाकर्मी रहेंगे मुस्तैद
नवभारत न्यूज
बैतूल, 14 अक्टूबर. लाल बहादुर शास्त्री स्टेडियम में दशहरे के मौके पर रावण एवं कुंभकर्ण के पुतलों का दहन किया जाएगा. पुतला दहन को लेकर तैयारियां लगभग पूरी हो गई है. कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा के कड़े इंतजार किए गए है.सैकड़ों पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी. पुलिसकर्मी हर हरकत पर नजर बनाकर रखेंगे. श्री कृष्ण पंजाबी सेवा समिति द्वारा 64 वर्षो से रामलीला और दशहरा उत्सव मनाते आ रही है. इस बार प्रशासन ने कोरोना गाईड लाईन के पालन के साथ-साथ स्टेडियम में रावण और कुंभकर्ण के पुतले दहन करने की अनुमति दी है. 60 फीट रावण और 55 फीट कुंभकरण का पुतला बनाया गया. 20 हजार वर्गफीट में पुतलों का दहन करेंगे. स्टेडियम में पुतले दहन करने वाले एरिया को बेरिकेट्स से बंद किया हुआ है. कोरोना गाईड लाईन का पालन करने के लिए स्टेडियम में चूना डाला गया है और गोले लगाए गए. कार्यक्रम में शामिल होने वाले
नागरिकों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेसिंग के साथ खड़े रहने के लिए कहा गया है, ताकि कोरोना संक्रमण का खतरा न बना रहे. 6 बजे भगवान राम बारात निकलेंगी. बारात सीधे लाल बहादुर शास्त्री स्टेडियम पहुंचेगी यहां राम और रावण का भीषण युद्ध होगा. इसके बाद पुतले दहन किए जाएंगे. कार्यक्रम में हजारों लोगों के पहुंचने की संभावना जताई है.
सुरक्षा के रहेगे पुख्ता इंतजाम -रावण दहन कार्यक्रम को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए है. सुरक्षा की दृष्टि से 300 से साढ़े तीन सौ सुरक्षा जवानों को तैनात किया जाएगा. पुलिसकर्मियों की हर हरकत पर नजर बनी रहेगी. किसी प्रकार से कोई अप्रिय घटना न हो इसका पूरा ध्यान रखा जाएंगा. पुलिस अधिकारी भी सुरक्षा व्यवस्था पर पूरे समय नजर बनाएं रखेंगे. कार्यक्रम को लेकर कुछ मार्गो को बंद कर यातायात को डायवर्ट किया जाएगा. स्टेडियम के आसपास वाले मार्ग पूरी तरह से बंद रहेेंगे. अलग-अलग स्थानों पर वाहनों की पार्किंग व्यवस्था की जाएगी. वीआईपी लोगों के लिए पुलिस ग्राउंड के पास स्थित गेट को खुला रखा जाएगा. शेष गेट से सामान्य लोगों की आवाजाही रहेगी.
पुलिस ग्राउंड और एक्सीलेंस स्कूल में पार्किंग -जिला मुख्यालय पर भी परम्परागत रुप से दशहरा उत्सव मनाया जाएगा. चाक चौबंद व्यवस्थाओं के बीच प्रतिमाओं के विसर्जन के अलावा रावण दहन का आयोजन किया जाएगा. दशहरा उत्सव को लेकर इस बार पुलिस विभाग द्वारा पूर्व की तरह ही रुट डायवर्ट किया है. इसके अलावा आयोजन स्थल पर वाहनों की रेलमपेल एवं अव्यवस्था न हो इसके लिए पार्किंग की व्यवस्था अलग-थलग की गई है. पुलिस ग्राउंड एवं उत्कृष्ट विद्यालयों में वाहनों की पार्किंग व्यवस्था की है. यहां से श्रद्धालुओं को स्टेडियम तक पैदल ही जाना होगा. करीब दौ सौ जवान जिला मुख्यालय पर चौक चौराहों, रावण दहन स्थल स्टेडियम एवं सदर में तैनात होंगे. स्टेडियम के चारों गेट पर पुलिस बल तैनात रहेगा. गेट से 3 बजे से 4 बजे तक स्टेडियम में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी. शहर में 6 मोबाईल टीमे सतत मॉनीटरिंग करेगी. विसर्जन स्थल कर्बला घाट, माचना घाट, हमलापुर में पुलिस, नगरपालिका, राजस्व एवं होमगार्ड का अमला तैनात रहेगा.

नव भारत न्यूज

Next Post

बैतूल के छतरपुर गांव में है रावण का मंदिर, भगवान की तरह पूजते हैं आदिवासी

Fri Oct 15 , 2021
उमाकान्त शर्मा बैतूल आदिवासी समाज का एक वर्ग रावण दहन का विरोध करता है. इसकी वजह भी खास है. बैतूल के कुछ आदिवासी खुद को रावण का वंशज मानते हैं. यहां के छतरपुर गांव में रावण का एक मंदिर भी है जिसे रावनवाड़ी कहते हैं. रावनवाड़ी में हर साल मेला […]