खाद और बीज वितरण की उचित व्यवस्था करें: कमिश्नर

रीवा:  कार्यालय में आयोजित बैठक में कमिश्नर अनिल सुचारी ने कृषि, पशुपालन, उद्यानिकी, सहकारिता, मछलीपालन तथा विपणन संघ की योजनाओं की समीक्षा की. उन्होंने कहा कि संभाग में खाद नियमित रूप से प्राप्त हो रही है. सभी जिलों में आगामी फसल के लिये पर्याप्त बीज भी भण्डारित हैं. खाद और बीज के वितरण की उचित व्यवस्था करायें. गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष लगभग समान मात्रा में खाद उपलब्ध है. इसका उचित वितरण करायें. संभागीय प्रभारी विपणन संघ खाद विशेषकर यूरिया तथा डीएपी की भण्डारित मात्रा, वितरण एवं रैक के संबंध में जनसंपर्क विभाग के माध्यम से प्रतिदिन जानकारी किसानों तक पहुंचायें.

कमिश्नर ने कहा कि उप संचालक कृषि मैदानी अमले के माध्यम से खाद और बीज वितरण की निगरानी करें. खाद, बीज तथा कीटनाशक के नमूने लेकर नियमित जांच करायें. अमानक पाये जाने पर तत्काल कार्यवाही करें. आगामी फसल के लिये डीएपी खाद की मांग अधिक होगी. डीएपी के विकल्प के रूप में एनपीके तथा एसएसपी खाद के उपयोग के लिये किसानों को प्रेरित करें. केवल चोरहटा वितरण केन्द्र को छोड़कर सभी केन्द्रों में खाद उपलब्ध है. प्रभारी अधिकारी विपणन संघ चोरहटा में भी पर्याप्त मात्रा में डीएपी खाद भण्डारित करायें. सहकारिता विभाग की समीक्षा करते हुए कमिश्नर ने कहा कि रीवा, सतना तथा सीधी सहकारी बैंकों की वित्तीय स्थिति को सुधारने के प्रयास करें.

संभाग में 74 करोड़ रूपये कृषि ऋण का लक्ष्य आगामी फसल के लिये रखा गया है. इसका वितरण करायें. सहकारी समितियों की ऑडिट का कार्य तेजी से करायें. कमिश्नर ने बैठक में दुग्ध संघ के अधिकारियों को संभाग में नये मिल्करूट बनाने तथा दूध सहकारी समितियों के गठन के निर्देश दिये. कमिश्नर ने उद्यानिकी विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि एक जिला-एक उत्पाद योजना में चिन्हित गतिविधियों के बैंकों में दर्ज सभी प्रकरण स्वीकृत कराकर ऋ ण वितरित करायें. रीवा जिले में सुंदरजा आम के क्षेत्र विस्तार के विशेष प्रयास करें. सभी जिलों में फल तथा सब्जी उत्पादन बढ़ाने के लिये कार्ययोजना बनाकर प्रयास करें. बैठक में उप संचालक कृषि यूपी बागरी, उप संचालक पशुपालन डॉ. राजेश मिश्रा, जिला अधिकारी विपणन संघ नेहा पीयूष तिवारी, कृषि वैज्ञानिक डॉ. आरके जोशी, प्रभारी संयुक्त आयुक्त सतीश निगम तथा संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे.

सीधी-सिंगरौली की प्रगति कम होने पर जताई नाराजगी बैठक में कमिश्नर ने मछली पालन विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के क्रियान्वयन पर विशेष ध्यान दें. सीधी तथा सतना जिले में अपेक्षा के अनुसार प्रगति नहीं है. रीवा में बचत सह राहत योजना का लाभ 170 मछली पालकों को दिया गया है. सिंगरौली तथा सीधी जिले में प्रगति बहुत कम है. इसमें सुधार करें. पशुपालन विभाग की समीक्षा करते हुए कमिश्नर ने कहा कि अधूरी गौशालाओं का निर्माण कार्य पूरा करायें. गौशालाओं में गौवंश को रखने की उचित व्यवस्था करायें. पशुओं का टीकाकरण संभाग में लक्ष्य के अनुसार हुआ है. केवल सीधी जिले में उपलब्धि कम है. वहाँ लक्ष्य के अनुसार टीके लगाकर ऑनलाइन जानकारी दर्ज करायें.

नव भारत न्यूज

Next Post

एसएएफ जवानों ने श्रमदान कर बनाया भव्य शहीद स्मारकए

Wed Oct 13 , 2021
एडीजीपी ने किया लोकार्पण, जवानों की प्रशंसा एडीजीपी रीवा:  के एसएएफ ग्राउंड में 9वीं वाहिनी विशेष सशस्त्र बल के जवानों ने श्रमदान कर भव्य शहीद स्मारक बना दिया है. जिसका लोकार्पण मंगलवार की दोपहर एडीजीपी केपी वेंकाटेश्वर राव ने किया. कम बजट में अच्छे कार्य को लेकर एडीजीपी ने 9वीं […]