जनता के प्रति जवाबदेह रहे, उन्हें न्याय दिलाएं

कलेक्टर ने अधिकारियों की बैठक में दिये निर्देश

इंदौर: सभी राजस्व अधिकारी राजस्व संबंधी कार्यों को निर्धारित समय-सीमा में पारदर्शी रूप से नियमानुसार करें. वे ऐसा कोई कार्य नहीं करें, जिससे की किसी भी व्यक्ति को उसका नाजायज लाभ मिल सकें. सभी अधिकारी जनता के प्रति जवाबदेह रहे. उनकी समस्याओं और प्रकरणों को गंभीरता के साथ सुने तथा सहानुभूतिपूर्वक निराकरण करें. वे लोगों को पूरा न्याय दें. कर्तव्यों और शासकीय कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को बख्शा नहीं जायेगा. इनके विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी.

उक्त निर्देश कलेक्टर मनीष सिंह ने अधिकारियों को दिए. कलेक्टर श्री सिंह आज रवीन्द्र नाटृय गृह में सम्पन्न हुई राजस्व संबंधी कार्यों की विस्तृत समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रहे थे. इस बैठक में सभी पटवारी, राजस्व निरीक्षक, नायब तहसीलदार, तहसीलदार, एसडीएम, एडीएम आदि शामिल हुये. बैठक में राजस्व प्रकरणों के निराकरण, राजस्व वसूली तथा सीएम हेल्प लाइन के तहत निराकृत किये जा रहे प्रकरणों की समीक्षा की गई.

साथ ही बैठक में प्रधानमंत्री किसान कल्याण योजना, धारणाधिकार तथा स्वामित्व योजना, शुद्धीकरण पखवाड़े, सूक्ष्म सिंचाई गणना आदि के संबंध में भी जानकारी दी गई. कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि सभी अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों का सतत रूप से नियमित भ्रमण करें. मौका मुआयना कर ही राजस्व प्रकरणों का निराकरण करें. जनता की समस्याओं को सुने. सहानुभूतिपूर्वक निराकरण करें. जनता के प्रति जवाबदेह रहे. उनसे संवाद रखें. यह सबका कर्तव्य है. उन्होंने निर्देश दिये कि वरिष्ठ अधिकारी अपने अधीनस्थ अमले के कार्यों की नियमित मानिटरिंग भी करें. सभी राजस्व अधिकारी अपने अधिकारों का उपयोग जनहित में करें.

सौ दिन से अधिक समस्या लंबित न रहे
बैठक में सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये गये कि सभी अधिकारी दिन-प्रतिदिन दर्ज प्रकरणों को देखें और उसी दिन उसका निराकरण करें. सीएम हेल्पलाइन में 100 दिवस से अधिक कोई भी समस्यां लंबित नहीं होना चाहिये. बैठक में आरसीएमएस पोर्टल में दर्ज प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा भी की गई. कलेक्टर श्री सिंह ने निर्देश दिये कि सभी अधिकारी अपने कार्यालयों में आने वाले राजस्व प्रकरणों को उसी दिन इस पोर्टल में दर्ज करें. रराजस्व न्यायालयों में 6 महीने से अधिक लम्बित प्रकरण नहीं होना चाहिये. बैठक में डायवर्सन वसूली की समीक्षा की गई तथा निर्देश दिये गये कि निर्धारित लक्ष्य के अनुसार डायवर्सन वसूली की जाये। डायवर्सन वसूली कार्य में तेजी लायी जाये. बैठक में अपर कलेक्टर राजेश राठौड़, अजय देव शर्मा तथा राधेश्याम मंडलोई भी मौजूद थे।

नव भारत न्यूज

Next Post

100 किमी दूर से आकर की पंचायत में हुए भ्रष्टटाचार की शिकायत

Wed Oct 13 , 2021
बड़वानी:  जिले में कई ग्राम पंचायतें भ्रष्टाचार का अड्डा बन गई है। आए दिन किसी न किसी पंचायत के भ्रष्टाचार और अनियमितता को लेकर शिकायतें सामने आ रही है। शासन द्वारा गांव के विकास के लिए पंचायतों को विभिन्न योजनाओं और मदों से लाखों रुपए की राशि दी जाती है, […]