पर्यावरण बचाने के लिये वृक्षारोपण एक मात्र और अंतिम विकल्प है: पूर्व मंत्री श्री शुक्ल

ग्रीन रीवा अभियान के तहत मार्तण्ड विद्यालय में किया गया वृक्षारोपण

रीवा:  रीवा शहर को हरा-भरा बनाने तथा पर्यावरण की सुरक्षा के लिये ग्रीन रीवा अभियान चलाया जा रहा है. इसके तहत उत्कृष्ट विद्यालय मार्तण्ड क्रमांक एक में सामूहिक रूप से वृक्षारोपण किया गया. इस अवसर पर पूर्व मंत्री एवं विधायक रीवा राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि पर्यावरण को बचाने के लिये वृक्षारोपण एक मात्र और अंतिम विकल्प है. वृक्ष हमारे ऑक्सीजन के कारखाने हैं. कोरोना संकट ने ऑक्सीजन का महत्व हम सबको अच्छी तरह से समझा दिया है. वृक्षारोपण का महत्व हर व्यक्ति जानता है. इसे केवल आदत बनाने की आवश्यकता है. हर व्यक्ति यदि हर वर्ष केवल एक पौधा रोपित करके उसकी देखभाल कर उसे बड़ा कर दे तो कुछ ही सालों में पूरा रीवा और पूरा प्रदेश हरा-भरा हो जायेगा.

ग्रीन रीवा अभियान के तहत सुव्यवस्थित वृक्षारोपण करने वाले स्कूल को 50 हजार रूपये का नगद पुरस्कार तथा एक वर्ष बाद वृक्षों को सुरक्षित रखने वाले स्कूल को 5 लाख रूपये का पुरस्कार दिया जायेगा. रीवा को ग्रीन सिटी बनाने में हर व्यक्ति के सहयोग की आवश्यकता है. विधायक श्री शुक्ल ने कहा कि वृक्षारोपण के लिये लोगों में जागरूकता तेजी से बढ़ी है. शहर की सभी शिक्षा संस्थाओं में वृक्षारोपण किया जा रहा है. शहर के प्रमुख सड़कों के किनारे तथा डिवाइडरों पर औद्योगिक संस्थानों, वन विभाग एवं नगर निगम के सहयोग से सघन वृक्षारोपण कराया जायेगा. उत्कृष्ट विद्यालय के विकास के संबंध में की गई मांगों का जिक्र करते हुए श्री शुक्ल ने कहा कि उत्कृष्ट विद्यालय को विकास के लिये हर संभव सहायता दी जायेगी. यहां सौ-सौ सीटर बालक तथा कन्या छात्रावास का निर्माण शीघ्र शुरू होगा.

खनिज मद से स्मार्ट क्लास बनाने के लिये राशि दी जा चुकी है. शिक्षा तथा स्वास्थ्य सुविधाओं के लिये विधायक निधि से राशि देने में मुझे आत्मिक संतोष होता है. समारोह में रीवा संभाग के कमिश्नर अनिल सुचारी ने कहा कि प्राचीन काल से वृक्षों का हम सम्मान करते आये हैं.  इसलिये की हमारा जीवन वृक्षों द्वारा दी जा रही ऑक्सीजन पर निर्भर है. बड़ी संख्या में वृक्षारोपण करके ही पर्यावरण को संतुलित किया जा सकता है. वृक्षों के विनाश से ग्रीन हाउस प्रभाव जैसा संकट पैदा हो चुका है. इसलिये वृक्षारोपण करना हम सबकी जिम्मेदारी है. पौधे रोपित करने के साथ-साथ उन्हें खाद पानी देकर बड़ा करना आवश्यक है. कार्यक्रम में मुख्य वन संरक्षक एके सिंह ने कहा कि स्वच्छ वातावरण बनाने के लिये हमें वृक्षारोपण को जीवनशैली का भाग बनाना होगा.

कार्यक्रम में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने कहा कि हर व्यक्ति एक पौधा रोपित कर उसे बड़ा करे. हर स्कूल का परिसर हरा-भरा और सुंदर बनाने की जिम्मेदारी शिक्षकों तथा विद्यार्थियों की है. उन्होंने कहा कि उत्कृष्ट विद्यालय को खनिज मद से लैब तथा स्मार्ट क्लासरूम बनाने के लिये राशि प्रदान की गई है. उत्कृष्ट विद्यालय को हर क्षेत्र में मॉडल विद्यालय बनायें. कार्यक्रम में डॉ. मुकेश येंगल ने ग्रीन रीवा अभियान की जानकारी दी. समारोह में पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सिंह, वनमण्डलाधिकारी चन्द्रशेखर सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी केपी तिवारी, प्राचार्य श्री उपाध्याय, शिक्षकों तथा विद्यार्थियों ने स्कूल परिसर में वृक्षारोपण किया.

नव भारत न्यूज

Next Post

निगम ने जमींदोज किए दो खतरनाक मकान

Sat Aug 7 , 2021
बड़ा सराफा और चंद्रभागा क्षेत्र में की कार्रवाई इंदौर:  नगर निगम के रिमूवल विभाग ने शुक्रवार को दो और अतिखतरनाक श्रेणी के मकान धवस्त कर दिए. एक कार्रवाई बड़ा सराफा और दूसरी कार्रवाई चंद्रभागा क्षेत्र में की गई. बड़ा सराफा में कार्रवाई के दौरान एक किराएदार नगर निगम से वैकल्पिक […]