स्कूल कॉलेज खुले, तो हॉस्टल क्यो बंद़

छात्रों नें सीएम के नाम कलेक्टर को दिया ज्ञापन
नवभारत न्यूज
भोपाल, 28 सितंबर. राजधानी भोपाल समेत प्रदेश भर में कोरोना वायरस का संक्रमण कम होने के बाद स्कूल, कॉलेज खोल दिए गए हैं. लेकिन बहर से शहर में पढऩे आने वाले छात्र-छात्राओं की परेशानी कम नहीं हो रही है. सरकार ने अभी तक हॉस्टल खोलने का निर्णय नहीं ले पाई है. बतांदे कि राजधानी में करीब 50 से 60 के बीच हॉस्टल संचालित होते हैं. इन्हें खोलने की मांग को लेकर मंगलवार को कई स्टूडेंट सीएम शिवराज सिंह चौहान के नाम कलेक्टर को ज्ञापन देने पहुंचे. उन्होंने कहा कि अब तक हॉस्टल नहीं खोले गए हैं. इस कारण उन्हें किराए के मकानों में रहना पड़ रहा है.
चार बार अफसरों को दिय आवेदन
छात्र अपने हाथों में पोस्टर थामे रहे. जिन पर बंद छात्रावास चालू करों लिखा था. स्कूल फेडरेशन ऑफ इंडिया के दीपक पासवान ने बताया कि भोपाल के सारे हॉस्टल बंद है. चार बार अफ सरों को आवेदन दे चुके हैं. आज भी इसी मांग को लेकर कलेक्टोरेट पहुंचे.
10वीं.12वीं के हॉस्टल अब तक नहीं खोले जा सके अफ सरों को दिए गए आवेदन में बताया गया कि कोरोना का संक्रमण कम होने के बाद स्कूल,कॉलेज समेत तमाम शिक्षण संस्थाएं खुल गई हैं, लेकिन हॉस्टल अब तक नहीं खोले जा सके हैं. हाल ही में 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स के लिए हॉस्टल 50 फीसदी क्षमता के साथ खोले जाने की बात कही गई है, लेकिन इस पर अमल अब तक नहीं हो पाया है. वर्तमान में कई छात्र 10 से 12 किमी दूर से भोपाल में पढऩे आते हैं.

नव भारत न्यूज

Next Post

कोरोना काल में हुए सबसे ज्यादा आर्ट अटैंक शिकार

Wed Sep 29 , 2021
यंगस्टर्स को मोटापा, स्ट्रेस और मोबाइल कर रहा परेशान वल्र्ड हार्ट डे आज होगें शहर में कई प्रोग्रमा नवभारत न्यूज भोपाल, 28 सितंबर. आम तौर पर हर साल यही आंकड़े सामने आते हैं कि बुजुर्गों के साथ-साथ अब युवाओं में भी हार्ट अटैक के मामलों में बढ़ोत्तरी हो रही है. […]