अब तक 40 मरीज! डेंगू है कि मानता नहीं

तमाम कवायदों के बाद भी डेंगू के मरीजों की संख्या में इजाफा, नसरुल्लागंज क्षेत्र में सर्वाधिक मरीज
सीहोर 22 सितंबर नवभारत न्यूज. खतरनाक डेंगू की रोकथाम के लिए मलेरिया विभाग लगातार अथक मेहनत कर रहा है, लेकिन डेंगू है कि मानता नहीं. जिले में अब तक डेंगू के कुल 40 मरीज मिल चुके हैं. नसरुल्लागंज बेल्ट में एक दर्जन मरीज तो रेहटी क्षेत्र के चकल्दी में अभी तक 6 डेंगू के मरीज मिल चुके हैं.
जिले में हर साल की तरह एक बार फिर डेंगू का डंक लोगों को बीमार कर रहा है. शहरी क्षेत्रों की अपेक्षा ग्रामीण क्षेत्र में डेंगू के मच्छर जबर्दस्त आतंक मचा रहे हैं.
चकल्दी में मिले आधा दर्जन मरीज
मुख्यालय से दूरस्थ ग्राम चकल्दी में अभी तक छह मरीज मिल चुके हैं. शुरुआत में मिले डेंगू के मरीजों से गांव में दहशत का माहौल था. मलेरिया व स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार सर्वे कर रही है. सर्वे में सबसे अधिक लोगों के घरों की छतों पर टायर पड़े मिले. जिनमें बड़ी मात्रा में लार्वा जमा था. जिसे अमले ने छत से उतराकर लार्वा नष्ट किया. वहीं गांव में से करीब एक ट्रक टायरों को छत से नीचे उतारकर लार्वा नष्ट किया गया है. इसके अलावा पूर्व में घरों में रखे गमलों में पानी भरा होने पर उन्हें भी खाली कराया गया था। अब इन गमलों में मिट्टी डलवाई जाएगी. ताकि बारिश का पानी इन गमलों में जमा न हो सके.
जागरुक करने में जुटा अमला
श्यामपुर क्षेत्र, इछावर और गोपालपुर क्षेत्र में पूर्व में डेंगू के मरीज मिले थे. इसके साथ ही चकल्दी में शुरूआत में दो मरीजों की पुष्टि के बाद एक साथ चार मरीजों के मिलने से गांव व स्वास्थ्य अमला सकते में आ गया था. स्वास्थ्य अमले ने गांव में लगातार सर्वे का काम किया और जागरुकता कार्यक्रमों के नुक्कड़ सभाओं से लोगों को डेंगू के मच्छरों के पनपने के बारे में विस्तार से जानकारी दी. इसका असर अब गांव में बुखार के मरीज तो मिल रहे हैं, लेकिन अभी डेंगू पॉजिटिव की पुष्टि नहीं हुई है. इससे ग्रामीणों में राहत है.
अब तक 700 घरों का किया सर्वे
ग्राम में 10 सर्वे दल की टीम ने सर्वे किया. मलेरिया विभाग की टीम ने करीब 700 घरों में सर्वे कर लार्वा की जांच कर उसे नष्ट किया. वहीं घरों की छत पर रखे टायरों को निकलवाए, जिनमें लार्वा पाया गया था. मलेरिया इंस्पेक्टर सुनील भल्लावी ने बताया कि कई घरों की छत पर टायर रखे मिले। जिनमे लार्वा पाया गया था। जिन्हें नष्ट कर दिया गया है. श्री भल्लावी ने बताया कि ग्राम पंचायत के सहयोग से हाथ ठेलों पर मिट्टी लेकर गली, मोहल्ले में जाएंगे। जिन घरों के गमलों में मिट्टी कम है, जो खाली हैं। उनमें मिट्टी भर दी जाएगी
समन्वित सहयोग लेकर कर रहे सामना
जिला मलेरिया अधिकारी क्षमा बर्वे ने जानकारी देते हुए बताया कि डेंगू से निपटने में सभी विभागों से अपेक्षित सहयोग लिया जा रहा है. हर जगह सर्विलांस कराया है. अमला घर- घर जाकर लार्वा की जांच कर रहा है. ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को समझाईश दी जा रही है कि वह इन दिनों पूरी बाहों के कपड़े पहनें तो पैरों को भी ढांककर रखें. इसके अलावा शाम को घर के दरवाजों को बंद रखें ताकि मच्छर प्रवेश न कर सकें. इसके अलावा हम ग्रामीण क्षेत्रों में नुक्कड़ सभाओं के माध्यम से भी जनता को जागरुक कर रहे हैं.

नव भारत न्यूज

Next Post

अन्य राज्यों में नगरीय विकास के कार्य देखने जायेगी अधिकारियों की टीम

Fri Sep 24 , 2021
नगरीय विकास मंत्री श्री सिंह ने “स्वच्छता की बुनियाद” अभियान में निकायों को किया सम्मानित भोपाल : 23 सितम्बर, 2021 देश के अन्य राज्यों में नगरीय विकास के क्षेत्र में हो रहे नवाचार और विकास के कार्यों को देखने अधिकारियों की टीम भेजी जायेगी। इस टीम की रिपोर्ट के आधार […]