विधानसभा चुनाव के लिए सभी से जुट जाने का आह्वान किया शिवराज ने

भोपाल, (वार्ता) मध्यप्रदेश में इस वर्ष के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारियों के बीच आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी पार्टीजनों से चुनाव में विजय सुनिश्चित करने के लिए जुट जाने का आह्वान किया और कहा कि विजय भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ही होगी।

श्री चौहान ने प्रदेश भाजपा की कार्यसमिति की एक दिवसीय बैठक के समापन सत्र को रात्रि में संबोधित किया। लगभग एक घंटे के संबोधन में श्री चौहान ने कहा, ‘हमारे पास अभी पूरे 200 दिन का समय है। यह समय नए जोश के साथ पारिवारिक माहौल में कार्य करने का है। वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को सम्मान दें, बूथ को सक्रिय करें और सब मिलकर जीत का संकल्प लें।’

प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में संगठन प्रभारी पी मुरलीधर राव, क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, ज्योतिरादित्य सिंधिया, फग्गन सिंह कुलस्ते, प्रहलाद पटेल, प्रदेश पदाधिकारी, राज्य के अनेक मंत्री और कार्यसमिति सदस्य मौजूद रहे। दिन में विभिन्न वक्ताओं ने इस वर्ष के अंत में होने वाले राज्य विधानसभा के चुनाव में पार्टी की विजय सुनिश्चित करने पर जोर दिया। संगठन के वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि पार्टी का लक्ष्य कुल 230 सीटों में से 200 से अधिक सीटों पर विजय हासिल करने और 51 प्रतिशत से अधिक वोट प्राप्त करने का है। पार्टी की रणनीतियां मुख्य रूप से यही लक्ष्य हासिल करने को लेकर बन रही हैं।

बैठक में राजनैतिक प्रस्ताव भी पारित किया गया। इसमें केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की शिवराज सिंह चौहान सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों की सराहना की गयी, तो मुख्य विपक्षी दलों को उनकी नीतियों के कारण निशाने पर लिया गया।

श्री चौहान ने पार्टी कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे कांग्रेस की पूर्ववर्ती 15 माह की सरकार में हुए ‘कारनामों’ को नहीं भूलें। ऐसे अनेक कार्यकर्ता यहां मौजूद हैं, जिनकी दुकानों और मकानों पर तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने दुर्भावनापूर्वक बुलडोजर चलवा दिए थे। झूठे मुकदमे दायर करवाए गए। नागरिकता संशोधन विधेयक के पक्ष में निकाली गयी रैली में लोगाें को पीटा गया। हमारी विचारधारा को कुचलने का प्रयास किया गया और आज यही लोग हमारी विचारधारा पर हमला कर रहे हैं। सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांग रहे हैं। अनुच्छेद 370 हटाने का विरोध करते हैं।

वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रतिदिन ट्वीट कर झूठे वादों का जाल फैला रहे हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं को इनके झूठ और पाखंड को जनता के सामने लाना है। उन्होंने कहा कि 05 फरवरी से राज्य में विकास यात्राएं निकाली जा रही हैं। इसमें संगठन की भूमिका महत्वपूर्ण रहेगी। क्योंकि इस दौरान राज्य सरकार की ओर से पिछले दो दशकों के दौरान किए गए जनकल्याणकारी कार्यों को जनता तक पहुंचाना है। वर्ष 2003 के पहले राज्य की क्या स्थिति थी, यह भी किसी से छिपा नहीं है। लोगों को पुरानी कांग्रेस सरकारों के कारनामे भी बताने हैं। श्री चौहान ने राज्य सरकार की विभिन्न चर्चित, लोकप्रिय और महत्वाकांक्षी योजनाओं के बारे में भी विस्तार से बताया और कहा कि यह सब आम जनता तक पहुंचना चाहिए।

क्षेत्रीय संगठन महामंत्री श्री जामवाल ने अपने संबोधन में कहा कि भाजपा की सरकारें अधिकांश राज्यों में हैं। देश और प्रदेश में संगठन भी मजबूत है। लेकिन जहां हम कमजोर हैं, उन पर चिंतन मनन की भी आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि चुनाव की दृष्टि से बूथ और बूथ कार्यकर्ता सबसे महत्वपूर्ण है और इन पर ध्यान देने की आवश्यकता है। श्री जामवाल ने कहा कि राज्य में 90 प्रतिशत घरों में केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं के हितग्राही हैं। हमे इन सबसे संपर्क करना है और पार्टी की विजय सुनिश्चित करना है।

प्रदेश प्रभारी पी मुरलीधर राव ने अपने संबोधन में कहा कि विधानसभा चुनाव में अब ज्यादा दिन शेष नहीं हैं। सरकार, संगठन और जनप्रतिनिधि की दृष्टि से हमें 200 दिन में 200 सीट जीतने के लक्ष्य की ओर बढ़ना है। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के अमृतकाल में अबकी बार 200 पार सिर्फ नारा नहीं है, बल्कि यह संकल्प है और इसे पूरा करना है। इसके अलावा हमें पार्टी का वोट 51 प्रतिशत से अधिक करना है।

इसके पहले प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद ने अपने संबोधन में प्रदेश पार्टी की कार्ययोजना और कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि गुजरात चुनाव में बूथ केंद्र और शक्ति केंद्र की मजबूती के कारण पार्टी को विराट जीत नसीब हुयी है। इसी तरह राज्य में पार्टी की योजनानुसार शक्ति केंद्रों और बूथ केंद्र गठित होंगे।

दिन में बैठक को केंद्रीय मंत्रियों और अन्य प्रमुख पदाधिकारियों ने भी संबोधित किया।

नव भारत न्यूज

Next Post

भारी विरोध के चलते रखा बागड़ी की नियुक्ति को होल्ड पर

Wed Jan 25 , 2023
सियासत अरविंद बागड़ी इंदौर के विवादास्पद कांग्रेसी नेताओं में से एक हैं।कांग्रेस में उनकी छवि फूल छाप कांग्रेसी की है। अग्रवाल समाज के अंदरूनी मामलों में भी अनेक बार अरविंद बागड़ी विवादों में आए हैं।नतीजा यह हुआ कि मात्र डेढ़ घंटे में उनकी नियुक्ति को होल्ड कर दिया गया। सूत्रों […]