भूपेंद्र पटेल ने राज्यपाल को सौंपा त्याग पत्र

गांधीनगर 09 दिसंबर (वार्ता) गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने अपने मंत्रिमंडल के मंत्रियों के साथ शुक्रवार को राज्य के राज्यपाल आचार्य देवव्रत को त्याग पत्र सौंप दिया।
श्री पटेल ने आज मंत्रिमंडल के मंत्रियों के साथ यहां राज्यपाल श्री देवव्रत से मुलाकात की और उन्हें राज्य के मंत्रिमंडल के साथ अपना त्याग पत्र सौंप दिया। उन्होंने मंत्रिमंडल को मिले राज्यपाल के सहयोग पर आभार जताया।
राज्यपाल श्री देवव्रत ने उन्हें विधानसभा चुनाव में मिली विजय पर शुभकामनाएं दीं और अन्य व्यवस्था होने तक श्री पटेल को मंत्रिमंडल के साथ पद पर बने रहने को कहा। मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल नयी सरकार के गठन और अगली व्यवस्था होने तक कार्यकारी मुख्यमंत्री बने रहेंगे।
गुजरात भाजपा अध्यक्ष सी आर पाटिल ने कल बताया था कि 12 दिसंबर को अपराह्न दो बजे गुजरात के मुख्यमंत्री शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह गांधीनगर हेलीपैड ग्राउंड पर होगा। शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शामिल होंगे।
राज्य की 182 सदस्यीय विधानसभा में पिछले 27 साल से सत्तारूढ़ भाजपा ने इस बार 156 सीटें जीत लीं हैं। जबकि इंडियन नेशनल कांग्रेस को 17 सीटें और निर्दलियों को तीन सीट हासिल हुई हैं। आम आदमी पार्टी और समाजवादी पार्टी ने क्रमश: पांच और एक से अपना खाता खोल दिया है। गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे आठ दिसंबर को घोषित हुए थे। गुजरात विधानसभा चुनाव की मतगणना में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने लगातार सातवीं जीत हासिल करके जीत का रिकॉर्ड तोड़ दिया और अपनी सत्ता बरकरार रखी है।
उल्लेखनीय है कि पिछली बार वर्ष 2017 में 182 सदस्यीय विधानसभा में 22 साल से सत्तारूढ़ रहते हुए भाजपा को सामान्य बहुमत से सात अधिक 99, कांग्रेस को 77, इसकी सहयोगी भारतीय ट्राइबल पार्टी को दो, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को एक और तीन निर्दलियों को जीत हासिल हुई थी। वर्ष 2012 के पिछले चुनाव में भाजपा ने 115, कांग्रेस ने 61, राकांपा और केशुभाई पटेल की गुजरात परिवर्तन पार्टी जिसका बाद में भाजपा में विलय हो गया था उसने दो और जदयू तथा निर्दलीय ने एक एक सीटें जीती थीं।

नव भारत न्यूज

Next Post

गुजरात के राज्यपाल ने भंग की 14 वीं विधानसभा

Fri Dec 9 , 2022
गांधीनगर 09 दिसंबर (वार्ता) गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने शुक्रवार को 14 वीं विधानसभा को भंग कर दिया। मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल हालांकि, नयी सरकार के गठन और अगली व्यवस्था होने तक कार्यकारी मुख्यमंत्री बने रहेंगे। श्री देवव्रत ने संविधान की धारा 174 (2) (ख) में दी गयी शक्तियों का […]