पुत्र निकला पिता का कातिल

मुन्नालाल की अंधी का खुलासा
जबलपुर: पनागर थाना अंतर्गत ग्राम कसही में 26 नवम्बर को हुई मुन्नालाल प्रजापति 55 वर्ष की अंधी हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। कातिल कोई और नहीं बल्कि मृतक का पुत्र ही निकला। जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जिसने पूछताछ में बताया कि पिता मानसिक रूप से कमजोर थे एवं घर में खाना खाते या सोते-उठते समय अचानक लैट्रिन बाथरूम कर लेते थे उसे ही साफ सफाई करनी पड़ती थी जिससे परेशान होकर उसने हत्या की योजना बनाई थी।विदित हो कि ग्राम कसही निवासी मुन्नालाल प्रजापति 55 वर्ष मड़ई रांझी में गुप्ता ट्रेडर्स में काम करता था। 26 नवम्बर को सुबह 8.30 बजे मजदूरी के लिये घर से निकले। शाम करीब 5.30 बजे झुरझुरू नहर पुल के समीप उसका शव मिला। जिसकके चेहरे व गले में चोट के निशान थे।

पुलिस ने रिपोर्ट पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू की। विवेचना के दौरान ज्ञात हुआ कि मृतक मुन्नालाल एवं बेटे बृजेन्द्र प्रजापति का आये दिन घर मे वाद विवाद होता रहता था, बेटा ब्रजेन्द्र जो ड्राईवरी करता है ने पूछताछ पर बताया कि वह पारले फैक्ट्री रिछाई से माल लोड कर छिंदवाडा जा रहा था, भेडाघाट के पास सूचना मिलने पर वह वाहन रोड किनारे खडा कर वापस पहुंचा था, जबकि पतासाजी पर ज्ञात हुआ कि घटना दिनॉक को ब्रजेन्द्र के वाहन में ग्राम निपनिया में डीजे लोड हो रहा था, ब्रजेन्द्र 2 घंटे निपनिया गॉवा से गायब था।
पहले चाकू मारे फिर दबा दिया गला
पुलिस ने शंका होने पर मृतक मुन्नालाल के पुत्र बृजेन्द्र प्रजापति उर्फ बिज्जू को अभिरक्षा मे लेकर कडाई से पूछताछ की तो ब्रजेन्द्र ने बताया कि उसने पिता मुन्नालाल के चेहरे पर चाकू से वार किया, पिता के जमीन पर गिर जाने पर पैर से गला दबाकर पिता की हत्या कर दी थी। आरोपी बेटे की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त चाकू व घटना के वक्त पहने कपड़े, जूते जप्त करते हुये आरोपी बिज्जू उर्फ बृजेश प्रजापति को प्रकरण में विधिवत गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

नव भारत न्यूज

Next Post

जिले में बिजली व्यवस्था को सुधारने के लिये ट्रांसफार्मर बदलने के साथ ही किये गये अन्य कार्य

Fri Dec 9 , 2022
छिन्दवाड़ा।कलेक्टर श्रीमती शीतला पटले द्वारा दिये गये निर्देशों के परिपालन में विद्युत विभाग ने रबी सीजन में बिजली व्यवस्था को सुधारते हुए बड़ी मात्रा में फेल हुए ट्रांसफार्मर को शीघ्र बदलने की कार्यवाही गत 15 दिवसों में की है। छिन्दवाड़ा जिले के अंतर्गत कुल 21884 ट्रांसफार्मर स्थापित है जिसमें वर्ष […]