क्यों ना सूचना आयुक्त पर लगाया जाए जुर्माना : हाईकोर्ट

जबलपुर:हाईकोर्ट ने सूचना के अधिकार के तहत समय पर जानकारी नहीं देने के चलते म.प्र.सूचना आयुक्त पर तल्ख टिप्पणी की है। दरअसल, सूचना मांगने वाले आवेदक के खिलाफ ही विभागीय जांच की अनुशंसा की थी। जिसे लेकर उच्च न्यायालय ने सूचना आयुक्त से 4 सप्ताह में शपथ पत्र में जवाब तलब किया है।

उल्लेखनीय है कि टीकमगढ़ के शिक्षक विवेकानंद मिश्र ने जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से जानकारी मांगी थी। प्रथम अपीलीय अधिकारी के जानकारी न देने पर भोपाल सूचना आयुक्त से अपील की थी। मुख्य सूचना आयुक्त ने आवेदक के खिलाफ ही जांच की अनुशंसा कर दी। जिसके बाद शिक्षक ने हाईकोर्ट की शरण ली। मामले में सुनवाई करते हुए उच्च न्यायालय ने कहा कि सूचना आयुक्त को इस तरह का आदेश देने का अधिकार नहीं है। क्यों न सूचना आयुक्त पर जुर्माना लगाया जाए।

नव भारत न्यूज

Next Post

लुढक़ा पारा, छूटी कंपकंपी

Fri Dec 9 , 2022
जबलपुर: पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी से हवाओं का रुख पूरी तरह से उत्तरी हो गया है। उत्तरी हवाओं ने जोर मारना शुरू कर दिया है जिसके साथ ही तापमान में गिरावट आ गई है। मौसम का मिजाज बदलने से गुरूवार को वातावरण में ठंडक घुली रही। उत्तरी बर्फीली […]