3 साल में नहीं हुई प्रथम वर्ष की परीक्षा

मेडिकल यूनिवर्सिटी का घेराव, हंगामा

जबलपुर: मप्र मेडिकल विश्वविद्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार और अनिमित्ताओं के चलते छात्रों का भविष्य अंधकार में है। सत्र 2020-21 नर्सिंग पैरमेडिकल के छात्रों की तीन वर्ष बीत जाने के बाद भी परीक्षाएं आयोजित नहीं की गई, जबकि संपूर्ण कुर्सी समय अवधि 3 या 4 वर्ष होती है। जिसको लेकर एमपी स्टूडेंट यूनियन की अगुवाई में छात्र-छात्रों ने विवि का घेराव करते हुए हंगामा किया।

इसके अलावा बीएएमएस अन्य सभी परीक्षाओं की परीक्षा के टाइम टेबल घोषित करने, परिणामों में हो रही धांधली, कार्यपरिषद अमान्य करने, अपलोड रिजल्ट को वेब साईट से हटाने, गीली कॉपी की जाँच, परीक्षा परिणाम की बार बार बदलने, महाविद्यालय विशेष के परिणाम जारी करने सहित छात्रों की अन्य समस्याओं को लेकर छात्र-छात्राएँ धरने पर बैठ गई। विवि में काफी देर चले विरोध प्रदर्शन के बाद विभिन्न मांगों को लेकर कुलपति को ज्ञापन सौंपा गया। इस दौरान चेतावनी दी गई कि अगर उनकी मांगों का निराकरण नहीं हुआ तो उग्र आंदोलन किया जायेगा।

नव भारत न्यूज

Next Post

राष्ट्रपति ने मंदिर में पूजा अर्चना के बाद किया नक्षत्र वाटिका का उद्घाटन

Fri Dec 9 , 2022
देहरादून, 09 दिसम्बर (वार्ता) उत्तराखंड के दो दिवसीय भ्रमण पर आई राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने अपने प्रवास के दूसरे दिन शुक्रवार सुबह राजभवन स्थित राज प्रज्ञेश्वर महादेव मंदिर में विधिवत पूजा अर्चना के साथ रुद्राभिषेक किया। राष्ट्रपति मुर्मू ने इसके बाद राजभवन स्थित नक्षत्र वाटिका का उद्धाटन भी किया। इस […]