20 लाख देकर पहले भरोसा जीता फिर लगा दी 41 लाख की चपत

गोरखपुर थाने में धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज
जबलपुर:एक युवक ने अपने ही दोस्त के खिलाफ षणयंत्र रचते हुएपहले 20 लाख रूपए उधार लिए और विश्वास जीतने के लिए पूरेे पैसे वापिस भी कर दिए। इसके बाद पुन: उधार रूपए लेकर अपने ही दोस्त को 41 लाख रूपए की चपत लगा दी। पीडि़त की शिकायत पर गोरखपुर पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर आरोपी की सरगर्मी से तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस ने बताया कि प्रशान्त बलेचा 36 वर्ष निवासी ड्यूप्लेक्स नं. 1 कास्मोसिटी गोरखपुर वर्तमान निवासी अमूल मार्केट, बड़ी ओमती, घंटाघर चौक ने लिखित शिकायत की कि आनन्द पहारिया निवासी पंचवटी, आनन्द नगर आधारताल नेे अपनी व्यापारिक व निजी जरूरतों के लिए आर्थिक मदद करने का आग्रह किया था तब उसने आपसी मित्रता व मदद करने का आशय रखते हुए बीस लाख रु नगद प्रदान किया था जिसे आनन्द पहारिया ने समय पर वापस कर आपसी मित्रता व भरोसे को बनाए रखा। आनन्द पहारिया को अपने व्यापार को उन्नत करने के लिए और अधिक धन की आवश्यकता थी जिसके लिए आनन्द पहारिया ने 45 लाख रुपए की मांग की थी, उसने अलग-अलग दिनांक को चैक व नगद के माध्यम से 41 लाख 15 हजार रूपये आनन्द पहारिया को दिया था।

आनन्द पहारिया ने रुपये वापस करने के लिए 2 सितम्बर 2019 को एक स्टाम्प पर आपस में अनुबंध पत्र लिखा था और उसमें यह शर्त थी कि 6 माह में आनन्द पहारिया रुपये वापस करेगा और तत्संबंध में लिखित में इककार किया था कि यदि वह रुपये वापस नहीं कर पाता है तो अनुबंध में उल्लेखित संपत्ति उसके नाम रजिस्टर्ड करेगा और रूपये वापस करने के लिए उसे एक 40 लाख का चैक दिया था। आनन्द पहारिया द्वारा पैसा न लौटाने की नियति से 15 दिसम्बर 2019 को जान बूझ कर काट-छांट ओवर राइटिंग कर प्रदत्त किया गया था ताकि पैसा वापस न दिया जा सके। अब पैसे मांगने पर धमकी देता है कि तुमको जो करना हो कर लो अब मैं तुम्हें पैसे नहीं लौटाउंगा ।

नव भारत न्यूज

Next Post

3 साल में नहीं हुई प्रथम वर्ष की परीक्षा

Fri Dec 9 , 2022
मेडिकल यूनिवर्सिटी का घेराव, हंगामा जबलपुर: मप्र मेडिकल विश्वविद्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार और अनिमित्ताओं के चलते छात्रों का भविष्य अंधकार में है। सत्र 2020-21 नर्सिंग पैरमेडिकल के छात्रों की तीन वर्ष बीत जाने के बाद भी परीक्षाएं आयोजित नहीं की गई, जबकि संपूर्ण कुर्सी समय अवधि 3 या 4 वर्ष […]