कानिटकर के साथ काम करने को लेकर उत्हासित हैं हरमनप्रीत

मुंबई, (वार्ता) भारतीय महिला टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने नवनियुक्त बल्लेबाजी कोच ऋषिकेश कानिटकर की तारीफ करते हुए गुरुवार को कहा कि टीम को उनके साथ तालमेल बैठाने में कोई समस्या नहीं होगी।

कानिटकर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुक्रवार से शुरू होने वाली पांच मैचों की टी20 शृंखला के दौरान टीम की देखरेख करेंगे।

गौरतलब है कि बीसीसीआई ने ‘पुनर्गठन मॉड्यूल’ पर काम करते हुए पूर्व कोच रमेश पवार को बतौर स्पिन-गेंदबाजी कोच राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में स्थानांतरित कर दिया है।इसी के साथ महिला टीम के कोच के रूप में पवार का दूसरा कार्यकाल भी समाप्त हो गया।

हरमनप्रीत ने पहले टी20 मैच की पूर्व संध्या पर कहा,“ मैंने हमेशा रमेश सर के साथ काम करने का आनंद लिया है।
हम उनके अधीन एक टीम के रूप में विकसित हुए हैं और बहुत कुछ सीखा है।उन्हें बतौर स्पिन-गेंदबाजी कोच एनसीए में स्थानांतरित करना बीसीसीआई का फैसला है।ऋषि सर हमारे साथ हैं।
हम श्रीलंका में उनके साथ बहुत अच्छा अनुभव रहा।वह काफी अनुभव लेकर आये हैं और हम केवल आगे की ओर देख रहे हैं।
हमारी टीम सही हाथों में हैं।”
हरमनप्रीत ने कहा, “कानिटकर शांत हैं और हमें किसी ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता थी जो हमें मैदान पर शांति प्रदान कर सके।
हमने अतीत में देखा है कि कभी-कभी महत्वपूर्ण स्थिति में, लड़कियों को किसी शांत व्यक्ति के समर्थन की आवश्यकता होती है जो उनके विचारों के माध्यम से उनका मार्गदर्शन कर सके।
श्रीलंका में इसका अनुभव करने के बाद जब हमें पता चला कि वह ऑस्ट्रेलिया शृंखला के लिये टीम के साथ होंगे तो हमें काफी अच्छा महसूस हुआ।”
हाल ही में भारतीय पुरुष टीम के साथ न्यूजीलैंड दौरे पर गये कानिटकर ने श्रीलंका में बल्लेबाजी सलाहकार के रूप में महिला टीम के साथ काम किया था।
भारत ने उस दौरे पर टी20 शृंखला 2-1 से जीती, जबकि एकदिवसीय सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप किया।
तीसरे वनडे में 124 रन पर छह विकेट गंवाने के बावजूद भारत हरमनप्रीत और पूजा वस्त्राकर की 97 रन की साझेदारी के दम पर 255 रन बनाने में कामयाब रहा।

हरमनप्रीत ने कहा, “ उन्होंने हमें बल्लेबाजी इकाई के रूप में अपने लक्ष्य हासिल करने में मदद की।
श्रीलंका में कुछ मैच ऐसे थे जहां हमने शुरुआती विकेट खो दिये थे, लेकिन फिर भी हम 250 रन बनाने में सक्षम थे।
जिस तरह से वह हमारे सामने चीजें पेश कर रहे थे, उससे हर कोई खुश था।”
बीसीसीआई ने फिलहाल यह पुष्टि नहीं की है कि महिला टीम में पवार की जगह कौन लेगा, लेकिन हरमनप्रीत का मानना है कि टीम कानिटकर की निगरानी में दो महीने बाद होने वाले महिला विश्व कप के लिये अच्छी तैयारी कर रही है।

हरमनप्रीत ने कहा, “ नये कोच के साथ काम करना मुश्किल होता, लेकिन हम पहले ही ऋषि सर के साथ काम कर चुके हैं इसलिए मुझे नहीं लगता कि कोई समस्या होगी।
एक नये कोच के साथ आपको यह बताना होगा कि हम कैसे काम कर रहे हैं और हम कैसे आगे बढ़ना चाहते हैं।
ऋषि सर पहले से ही इसके बारे में जानते हैं और यह ज्यादा बदलने वाला नहीं है।
हम पिछले तीन महीनों में जिस तरह से खेलते आये हैं, उसी तरह से खेलना जारी रखना चाहते हैं और मुझे नहीं लगता कि हम जिस तरह से खेलते हैं उसमें हम ज्यादा बदलाव करेंगे।”
भारत ने ऑस्ट्रेलिया टी20 शृंखला के लिये अनुभवी ऑलराउंडर स्नेह राणा के साथ-साथ फिनिशर की भूमिका निभाने वाली दयालन हेमलता और किरण नवगिरे को टीम से बाहर रखा है।
दूसरी ओर, सीनियर महिला टी20 ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन करने वाली वामहस्त तेज गेंदबाज अंजलि सरवानी को पहली बार टीम में शामिल किया गया है।
हरमनप्रीत ने कहा कि राणा के लिये टीम के दरवाजे बंद नहीं हुए हैं, लेकिन घरेलू कलाकारों को उनके प्रदर्शन के लिये पुरस्कृत किया गयाहै।

उन्होंने कहा, “अगर आप अंजलि की बात करें तो उन्होंने सबसे ज्यादा विकेट लिये और अन्य खिलाड़ियों ने भी अच्छा प्रदर्शन किया।चयन आपके प्रदर्शन पर निर्भर करता है और जिन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है वे टीम में हैं।स्नेह राणा और सभी अच्छे खिलाड़ी हैं।आने वाले टूर्नामेंट में जब भी वे अच्छा करेंगे तो टीम में वापस आयेंगे।
हम उन पर नजर रख रहे हैं।ऐसा नहीं है कि अगर आज वो टीम में नहीं हैं तो हम उन्हें नज़रअंदाज़ कर रहे हैं।वे व्यवस्था का हिस्सा हैं और जब वे अच्छा प्रदर्शन करेंगे तो वापसी करेंगे।”
हरमनप्रीत ने यह भी पुष्टि की कि अगले महीने होने वाले अंडर-19 महिला टी20 विश्व कप में भारत का प्रतनिधित्व करने के लिये चुनी गयीं शेफाली वर्मा और ऋचा घोष ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोई मैच नहीं खेलेंगी।दोनों खिलाड़ी अगले महीने दक्षिण अफ्रीका और वेस्ट इंडीज के विरुद्ध होने वाली त्रिकोणीय टी20 शृंखला में भी नहीं खेलेंगी।

उन्होंने कहा, “ अंडर-19 कैंप से पहले अगर उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलने का मौका मिलता है तो यह उनके आत्मविश्वास में मदद करेगा।
शिविर की घोषणा होने तक वे खेलेंगे और फिर वे अंडर-19 शिविर में शामिल होंगे क्योंकि शेफाली टीम की कप्तान है।
जब हम दक्षिण अफ्रीका में त्रिकोणीय शृंखला खेलेंगे, तो वे निश्चित रूप से उपलब्ध नहीं होंगे क्योंकि वे अंडर-19 विश्व कप खेल रहे होंगे।”

नव भारत न्यूज

Next Post

हॉकी विश्व कप से पहले भुवनेश्वर, राउरकेला में बिछीं नयी पिचें

Fri Dec 9 , 2022
भुवनेश्वर, (वार्ता) एफआईएच ओडिशा पुरुष हॉकी विश्व कप 2023 से पहले यहां कलिंगा हॉकी स्टेडियम और राउरकेला के बिरसा मुंडा हॉकी स्टेडियम में चार नयी पिचें बिछायी गयी हैं। हॉकी इंडिया ने यहां जारी विज्ञप्ति में कहा कि कलिंगा स्टेडियम में मुख्य पिच के साथ-साथ अभ्यास पिच को फिर से […]