मालिकाना हक पाने के चक्कर में जंगल हो रहा सफाया

वन परिक्षेत्र जियावन अंतर्गत ग्राम चटनिहां, खंधौली से लगे जंगलों की हो रही कटाई
वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी बने अनजान, वनरक्षक पर उठ रहे सवालिया निशान

सिंगरौली :वन परिक्षेत्र जियावन अंतर्गत हरे-भरे जंगलों की अवैध कटाई तीव्र गति से जारी है। जिसमें वन रक्षकों की भूमिका संदेह के दायरे में है।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वन परिक्षेत्र जियावन अंतर्गत ग्राम चटनिहा, खंधौली से लगे जंगल तीन बोदारी, घंटहवा पहरी एवं दिया बड़ेरा स्थित के जंगलों में वनरक्षक से सांठ-गांठ कर अवैध कटाई किए जाने का मामला सामने आया है। सूत्रों की माने तो कंपार्टमेंट 750 में लगे सागौन के पेड़ों को धराशाई कर कब्जा किया जा रहा है तथा वन भूमि का मालिकाना हक प्राप्त करने के उद्देश्य से हो रही वनों की अवैध कटाई में वन विभाग के कर्मचारियों की संलिप्तता को भी इनकार नहीं किया जा सकता।

ग्राम चटनिहा और खंधौली से लगे जंगलों में विगत वर्षों से ही अवैध कटाई का सिलसिला चल रहा है। जिसमें कंपार्टमेंट 750 में लगे सागौन के पेड़ों को कुछ माह पूर्व में अवैध कटाई होने तथा कई लोगों द्वारा घर बनाए जाने और खेती करने की भी खबर मिली हैं। जिसमें विभाग के बीट प्रभारी व वनरक्षक की मिलीभगत होने की बातें कही जा रही हैं। वनों की हो रही अवैध कटाई को रोकने वन विभाग के अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कड़ी कार्रवाई की मांग की गई है।

इनका कहना है
अतिक्रमण की शिकायत मिली है। जिसके परिपेक्ष में जंगल विभाग की टीम 26 सितंबर को वहां गई थी और निरीक्षण कर चुकी है। कंपार्टमेंट इन 51, 52, 53, चटनिहा एवं खंधौली के जंगलों में पड़ता है और हां कोई कटाई नहीं हुई है। हां वहां के जंगल के कुछ हिस्से में पहले से ही बहुत ज्यादा अतिक्रमण हो चुका है और वहां जंगल पहले से ही नहीं बचा जबकि कंपार्टमेंट 750 चहली में पड़ता है जिसकी मैं जांच करवाता हूं।
अभिषेक मिश्रा
रेंजर,जियावन

नव भारत न्यूज

Next Post

भारत जोड़ो यात्रा में भारी संख्या में लोग जुटे

Wed Sep 28 , 2022
कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ों यात्रा ‘ के 21 वें दिन बुधवार मलप्पुरम (केरल), 28 सितंबर (वार्ता) कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ों यात्रा ‘ के 21 वें दिन बुधवार को यहां पांडिकड से भारी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता और आम लोग जुटे। केरल में चल रही […]