अनारकली से बिछड़ने से नाराज सलीम ने घरों में घुस कर की तोड़फोड़

पुलिस व वन विभाग की संयुक्त टीम ने आधी रात जंगल की तरफ खदेड़ा
उमरिया: जिले के मानपुर विधानसभा मुखयालय अंतर्गत बांधवगढ टाइगर रिजर्व नेशनल पार्क में इन दिनों पालतू अनारकली व जंगली सलीम की कहानी क्षेत्र में सुर्खियां बटोर रही है। दरअसल यह कहानी दो हाथियों के बीच की है, एक पालतू तो दूसरा जंगली। हाथियों के बीच उमडा प्यार वन विभाग का सिर दर्द बन चुका है जिसका खामियाजा गांव की जनता को भुगतना पड़ रहा है। मिली जानकारी अनुसार बांधवगढ टाइगर रिजर्व के कल्लवाह बीट कोरजोंन में जंगल की गस्ती पर तैनात पालतू हथनी अनारकली को रखा गया है जहां जंगली हाथियों के ग्रुप का एक विशालकाय हाथी अनारकली के प्यार के चक्कर मेँ पड कर अपना झुंड छोंड़ कर अनारकली के आस पास भटकता रहता है, जिसका नाम सलीम रखा गया है।

बताया जाता है कि हथनी अनारकली के सांथ एक अन्य हाथी को भी कैम्प पर रखा गया है लेकिन वह हाथी बूढ़ा हो जाने के कारण जंगली हाथी मौके की तलाश में रहता है और मौका पाते ही अनारकली को अपने साथ धक्का मार मार कर जंगल की तरफ ले जाता है। यही सिलसिला कुछ दिनों पहले से निरंतर चलता आ रहा था कि इसी दरमियान बांधवगढ में हाथी महोत्सव का बृहद कार्यक्रम रखा गया था और बांधवगढ में अपनी निरंतर सेवा दे रहे सभी पालतू हाथियों की खातिरदारी करने के लिए एक जगह केम्प पर एकत्रित किया गया था जिनकी करीब हफ्ते भर खातिरदारी की गई, वहीं दूसरी तरफ जंगली हाथी सलीम अपनी अनारकली का कई दिंनो तक इंतजार किया और इधर उधर ढूंढते हुए गढ़पुरी गांव के कोलुहाबाह के करीब पहुंच गया।

शनिवार व रविवार की दरमयानी रात अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कोलुहाबाह गांव में घुस गया। इतना ही नही घरों को तोड़फोड़ करते हुए घर के अंदर जा घुसा और किसानों के घर मे रखा अनाज खा गया वहीं गांव में हाथी के द्वारा घुस कर उत्पात मचाने से रामप्रसाद यादव,सुशीला सिंह,शकुन्तला बैगा,ददुआ बैगा और सोनेलाल बैगा के घर बुरी तरह छतिग्रस्त हो गए हैं। आधी रात गांव में हाथी द्वारा मचाया जा रहा तांडव को देख गांव में भगदड़ मच गई और लोगों द्वारा आनन फानन में वन विभाग और पुलिस प्रशासन सूचना को दी गई । पुलिस व वन विभाग की टीम मौके पर जा पहुंची और रात नौ बजे से दो बजे रात तक भारी मशक्क़त के बाद उक्त जंगली हांथी को घर से बाहर निकाल कर जंगल की तरफ खदेड़ा गया। कोलुहाबाह निवासी कई किसानों सहित आदिवासियों के घर को हाथी द्वारा छतिग्रस्त किया गया सांथ ही घर की बाड़ी में लगाये गए भुट्टा व केला के पेड़ देखते ही देखते नष्ट कर दिया गया, गनीमत रही कि किसी के जान माल का नुकसान नही हो पाया

नव भारत न्यूज

Next Post

निगम - मंडलों में इंदौर के नेताओं को मिल सकता है मौका

Tue Sep 6 , 2022
सियासत रविवार को भोपाल में हुई प्रदेश भाजपा की कोर समिति में निर्णय लिया गया कि जल्दी ही निगम मंडलों में नियुक्ति दी जाएगी। पिछले गठन में इंदौर के नेताओं को निराशा हाथ लगी थी। केवल सावन सोनकर को निगम मंडल में अवसर मिला था। उन्हें अनुसूचित जाति वित्त निगम […]